ब्लॉगसेतु

अनंत विजय
0
लता मंगेशकर लगातार को भक्ति के पद गाने में बहुत आनंद आता था। उन्होंने मीरा के कई पद गाए। उनको जयदेव का गीत गोविन्द भी बेहद प्रिय था। लता मंगेशकर बचपन से ही कृष्ण के प्रति आकर्षित रहती थीं। बाद में जब मीरा, सूरदास और जयदेव के पदों को पढ़ा तो उनकी कृष्ण में आस्था और...
अनंत विजय
0
कोरोना महामारी के दौर में ओवर द टाप (ओटाटी) प्लेटफार्म और तकनीक के अन्य माध्यमों के जरिए देश विदेश में फिल्मों का प्रदर्शन होता है। फिल्म निर्माता या कंपनी फिल्म के मुनाफे को प्रचारित करती हैं तो बहुधा फिल्म के विदेश में प्रदर्शन से होनेवाली आय को भी जोड़ा जाता है।...
sanjiv verma salil
0
मुण्डकोपनिषद १परा सत्य अव्यक्त जो, अपरा वह जो व्यक्त।ग्राह्य परा-अपरा, नहीं कहें किसी को त्यक्त।।परा पुरुष अपरा प्रकृति, दोनों भिन्न-अभिन्न।जो जाने वह लीन हो, अनजाना है खिन्न।। जो विदेह है देह में, उसे सकें हम जान।भव सागर अज्ञान है, अक्षर जो वह ज्ञान।। मन इंद्रिय अ...
sanjay krishna
0
डॉ. एसएन सुब्बाराव फोटो िवकिीडपीिडया से  आदिवासी साप्ताहिक पत्र में यह 26 अप्रैल के अंक में प्रकाशित हुआ था। आदिवासी रांची से प्रकाशित होती थी और इसके संपादक थे मशहूर कथाकार राधाकृष्ण। यह लेख बागियों के समर्पण के एक साल होने पर लिखा गया था। इसमें जो विचार...
 पोस्ट लेवल : डॉ. एसएन सुब्बाराव
हर्षवर्धन त्रिपाठी
0
हर्ष वर्धन त्रिपाठी उत्तर प्रदेश में पहले और दूसरे चरण के चुनाव पश्चिमी उत्तर प्रदेश से शुरू हो रहे हैं।सबकी नज़रें पहले और दूसरे चरण के मतदान पर हैं क्योंकि, इसी से पूरे प्रदेश का माहौल बनेगा, ऐसा माना जा रहा है। पहले-दूसरे चरण के मतदान वाली विधानसभा सीटों पर...
कुसुम कोठारी
0
 स्वर सम्राज्ञी कभी नहीं जाएंगी।मधुर स्वरों की सम्राज्ञी वो कहां कभी जायेंगी कह दोकंठ कंठ में ठहर गई हैश्वास-श्वास गायेगी कह दो।कोकिला भी गर्वित होतीतुलना निज से जब सुनती थीवागीश्वरी गले में रहतीनव स्वर बैठ सदा बुनती थीवीणा के तारों में गूंथितसदियों लहराय...
sanjiv verma salil
0
सॉनेट लता*लता ताल की मुरझ सूखती।काल कलानिधि लूट ले गया।साथ सुरों का छूट ही गया।।रस धारा हो विकल कलपती।।लय हो विलय, मलय हो चुप है।गति-यति थमकर रुद्ध हुई है।सुमिर सुमिर सुधि शुद्ध हुई है।।अब गत आगत तव पग-नत है।।शारदसुता शारदापुर जा।शारद से आशीष रही पा।शारद माँ क...
sanjiv verma salil
0
कृति चर्चा'चुनिंदा हिंदी गज़लें' संग्रहणीय संकलनआचार्य संजीव वर्मा 'सलिल'*[कृति विवरण : चुनिंदा हिंदी गज़लें, संपादक डॉ. रोहिताश्व अस्थाना, आकार डिमाई, आवरण सजिल्द बहुरंगी जैकेट सहित, पृष्ठ १८४, मूल्य ५९५/-, प्रकाशक - ज्ञानधारा पब्लिकेशन, २६/५४ गली ११, विश्वास नगर, श...
अनंत विजय
0
राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा में हिस्सा लेते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने संसद में कुछ ऐसी बातें कहीं जिस पर, उनको लगता है कि चर्चा की जानी चाहिए। पहली बात तो उन्होंने ये कही कि भारत राष्ट्र नहीं है और ये राज्यों का संघ है। उन्होंने भारतीय जनता पा...
हर्षवर्धन त्रिपाठी
0
हर्ष वर्धन त्रिपाठीउत्तर प्रदेश में पहले चरण में जिन सीटों पर सबकी नज़र है, उनमें सबसे प्रमुख सीट के तौर पर मथुरा-वृंदावन को देखा जा रहा है। भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी श्रीकांत शर्मा 2017 के विधानसभा चुनाव में यहाँ से रिकॉर्ड मतों से जीते विधानसभा पहुँचे थे और...