ब्लॉगसेतु

               
मुझे कच्छा खरीदना है...पर भ्रम में हूँ...कौन सा लूँ?...आपकी अमूल्य प्रतिक्रियाओं का इंतज़ार है ***राजीव तनेजा*** ट्रिंग...ट्रिंग.…. तनेजा जी?... "ओह्हो!..शर्मा जी...आप?…..कहिए…कैसे याद किया?"... "अभी आप क्या कर रहे हैं?"... "कच्छा ठ...
नोट:होली के अवसर पर इन चित्रों के महज़ हास्य के लिए बनाया गया है..अगर किसी भी ब्लॉगर मित्र को अपने फोटो पर आपत्ति हो तो सहर्ष ही क्षमा मांगते हुए उसके चित्र को हटा दिया जाएगा                     &...
  क्या आप सब के साथ भी वही सब हो रहा है जो मेरे साथ हो रहा है?… क्या आपके….मेरे और तमाम ब्लोग्गरों के ख्याल मिलते-जुलते हैं?…. किसी प्रिय ब्लॉगर को देखने के बाद क्या आपके दिल में भी वैसी ही हुक उठती है ज...
***राजीव तनेजा***      "बात सर के ऊपर से निकले जा रही थी...कुछ समझ नहीं आ रहा था कि आखिर!...माजरा क्या है?" जिस बीवी को मैँ कभी फूटी आँख नहीं सुहाया,वो ही मुझ पर दिन पर दिन मेहरबान हुए जा रही थी। दिमाग पे बहुत जोर डालने के...
अरे काहे का मीट?...किसका मीट?...सब बकवास इतना झूठ?...तौबा...तौबा...कुछ तो उपरवाले के कहर से डरो...कुछ तो उसके ताप से घबराओ...जिसे देखो वही जो मन में आए बके चले जा रहा है...मीट...मीट...मीट अरे!...काहे का मीट?...किसका मीट?...  किसका?...किसका कत्ल हुआ था?...ज़रा...