ब्लॉगसेतु

एक इच्छा कुछ नहीं बदलती। एक निर्णय कुछ बदलता है। लेकिन एक निश्चय सब कुछ बदलता है। 
हमें जो मिलता है, उससे जीविका बना सकते हैं लेकिन जो देते है वह जीवन बनाता है। 
श्रम से शरीर मजबूत होता है, उसी प्रकार से कठिनाइयों से मस्तिष्क सुदृढ़ होता है। 
सीढ़ियों को देखते रहना ही पर्याप्त नहीं है सीढ़ियों पर चढ़ना आवश्यक है। 
अगर आप कड़ी मेहनत करें खुद को जाने और खुद पर गर्व करें तो आपके जीतने के मौके बढ़ जाते हैं। 
आप अपने सपनों का महल तो बनाने की सोच सकते हैं लेकिन इस मूर्तरूप देने में श्रमिकों का ही योगदान होता है।( साभार ) 
यदि आपको पढ़ना पसंद नहीं है, इसका अर्थ है कि आपको कोई सही किताब मिली नहीं। -- जे.के. राउलिंग 
अपने दिल दिमाग के थोड़े से भी हिस्से आप बुराइयों को निकाल बाहर किजिए, उस रिक्त स्थान को सृजनात्मकता भर देगी। 
यदि आपको पढ़ना पसंद नहीं है, इसका अर्थ है कि आपको कोई सही किताब मिली नहीं। -- जे.के. राउलिंग