ब्लॉगसेतु

विरोधी दलों द्वारा CAA का विरोध व देश को बांटने के जो प्रयास हो रहे है वे केवल अपने अस्तित्व को बचाने के झूठे हथकंडे साबित होंगे।CAA केवल उन अल्पसंख्यक लोगों को न्याय देने का प्रयास है जो पाकिस्तान, बांग्लादेश व अफगानिस्तान में प्रताड़ित किये जा रहे है जिनकी बहु बे...
शिक्षक दिवस पर हार्दिक बधाई।शिक्षक होना अपने आप में गर्व की बात है क्योंकि शिक्षक गुरु होता है सभी को अंधकार से प्रकाश की तरफ लाता है।हर कार्य को करने के लिये गुरु की आवश्यकता होती है।प्रारम्भिक शिक्षा से शुरू करके उच्च शिक्षा प्राप्त करने तक तो आवश्यकता रहती ही है...
मेरा विचार है कि देश में  लोगों के नस नस में जो भ्रष्टाचार रम गया था ,ज़्यादातरनेता ,नौकरशाह,अर्थशास्त्री व उद्योगपतियों के लिये ये एक मनोरंजन से बन गया था,आम आदमी के टैक्स की कमाई कुछ लोगों की जेब में जा रही थी औऱ लोग त्राहि त्राहि कर रहे थे।गरीबी बढ़ गयी थी, प...
कई लोग अपने कपड़ों से पहचाने जाते हैं। जैसे पुलिस, वर्दी में होते हैं तो आम जनता इनके पास संरक्षण, शिकायत या मदद के लिए जा सकती है। (मिलगी कितनी भले ही ये सोचनीय है) वर्दी पर अपराधी हमला नही कर सकते। सेना, इनके लिए वर्दी सुरक्षा व सुविधा है। दमकल कर्मी अग्नि व ऊष्मा...
वट्स एप्प पर मैने शिक्षक नामक ग्रुप बनाया है ।इस ग्रुप में मेरे बेहतरीन प्राइमरी से लेकर विश्वविद्यालय के शिक्षक और जानकार प्रिंट ,वेब और टी वी पत्रकार मित्र शामिल हैं ।ग्रुप में आम तौर पर किसी न किसी ज्वलन्त विषय को लेकर सटीक विश्लेषण ,उम्दा बहस और कभी कभार भयंकर...
बांग्ला लघुकथाःएलियन की आँखों से भारत- शमीम अख्तर बानोमूल बांग्ला से अनुवाद - रतन चंद ‘रत्नेश’..................................................................................उड़न-तश्तरी पर सवार होकर एक एलियन दूसरे ग्रह से इस धरती पर आया। उसे यहाँ विभिन्न देशों की...
बस यूं ही जीवन सफर पर चलते चलते, उम्र के एक पड़ाव की शाम ढलते-ढ़लते।बचपन की यादों के दिल में मचलते-मचचलते, वक्त के जख्मों को भरते-भरते…बचपन के चार दिवारी में पलते-पलते!–आंसूओं का सैलाब पथराई आँखों से निकलते-निकलते–बस यूं ही जीवन सफर पर चलते-चलते!गिरवी बचपन— क्यों ना...
बाराबंकी । कामरेड राम नरेश वर्मा कम्युनिस्ट पार्टी के निर्भीक, लडाकू व संघर्ष शील नेता थे यह विचार भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी द्वारा आयोजित श्रद्धांजलि सभा को संबोधित करते हुए पार्टी के राज्य परिषद सदस्य रणधीर सिंह सुमन ने कहा कि कामरेड वर्मा ऐसे वक्त में दिवंगत हुए...
देश के नेता और मीडिया विश्वसनीयता खोता जा रहा है।पहले बूथ capturing होती थी जनता को ठगा जाता, शेषन साहब द्वारा  चुनाव सुधार प्रक्रिया शुरू की गई थी उससे चुनावों में काफी पारदर्षिता आ चुकी है।EVM खराब हो सकती है पर उसमें हेरा फेरी करना बेहद मुश्किल है।जो लोग हे...
Jagdish Baliएक बार फ़िर वही हुआ जो घाटी में दशकों से होता आया है। एक बहुत बड़ा फ़िदायीन हमला और देश के लगभग 40 जवान शहीद हो गए। जब कभी भी जम्मू-कश्मीर में ये लगने लगता है कि घाटी में अमन कायम होने वाला है, तभी दहशतगर्द ऐसी घटना अंजाम दे जाते हैं कि हर एक सच्चा हिंदोस्...
 पोस्ट लेवल : जगदीश बाली