ब्लॉगसेतु

यही तो रास्ता है मेरे रोज गुजरने काएक बार, दो बार, रोज ......एक दिन अचानक नजरे मिली थी तुमसे वहाँतुम वहीं कहीं खड़ी थीसूरत तुम्हारी आज भी याद हैसूरज की रौशनी में ओंस की बूंदों की चमक लिएरोज यूँ ही देखा करता था तुम्हें गुजरते हुएउस घनी हरियाली के बीच,पत्थर पहाड़ों के...
मुझे नहीं करनी थीजो मैंने बात ही नहीं की।मना लो, हँसा लो, कर लो गुस्सा, हो जाओ नाराज।मुझे नहीं करनी थीजो मैंने बात ही नही की।उसने कर, चर, खप, चटरसारे सुर लगाएकंकड़ सा चुभ-चुभ करसारे जोर लगाएहुआ महीन-मुलायम भी, पर .....मुझे नहीं करनी थीजो मैंने बात ही नही की।फिर...
 पोस्ट लेवल : कविता एक पुकार दिल की
संसार में हरेक प्राणी बंधा होता हैकिसी न किसी खूंटे सेपरोक्ष या अपरोक्ष रूप सेस्वच्छंद जीने की कामना करनामेरी नजर में एक भ्रम मात्र हैबहुत से खूंटे से बंधे प्राणियों कोखूंटे से दूर होना बिल्कुल पंसद नहींक्योंकि वे आदी हो चुके होते हैंबिना परिश्रम हर मौसम मेंअलग-अलग...
जिस धारा का पानी पिया उसे बहुत कम लोग याद रखते हैंजिसकी रोटी खायी उसके गीत गाने वाले विरले मिलते हैंजो पेड़ छाया प्रदान करता है उसकी जड़ नहीं काटनी चाहिएजिस कुएं से पानी लिया हो उसमें पत्थर नहीं फेंकना चाहिएउस पेड़ के कटने की दुआ मत करो जो सबको धूप से बचाती हैधिक्कार...
A B C Dआया नया वर्ष 2020 जीE F G Hसदा बोलना सच-सचI J K Lआगे-आगे बढ़ता चलM N O Pकभी न देखना मुड़कर जीQ R S Tघिसट-घिसट मत चलना जीU V W Xकभी न बनाना जेरॉक्सY Zचलता रहे सबका नेटHappy New Year 2020 ...अर्जित रावत
सभी ब्लॉगर्स एवं पाठकों को नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं! 
 पोस्ट लेवल : कविता happy new year 2019
“अप्रैल की सुहानी सुबह फूलों की खुशबू और आकाश में चमकते सूरज के साथ सभी प्यारे पोकेमाॅन हो, तब बच्चों के अपने नए पोकेमाॅन को चुनने के लिए यह एक आनंददायक आदर्श दिन है।“ गोस्वामी जी ने आराम की थाह लेते हुए कहा। “आप सही कह रहे हैं, मिस्टर पीयूष! आखिरकार एक लम्बे...
Pokemon Chakra Story Chapter-1 The remainder of the story......Pokemon Chakra Story Chapter-1 The remainder of the story......Pranali was walking through the Swamp area. There she met the girl, whom Sam referred as Naggin but literally, Prabhav gave...
हम तो ठहरे हिन्दी माध्यम से पढ़े-लिखे, इसलिए हिंदी में ही पढ़ते-लिखते हैं। अंग्रेजी तो अपनी बस काम चलताऊ है, थोड़ा-बहुत समझ आ जाता है। अपने लिए तो  इतना  ही काफी है।  लेकिन अब मेरे आठवीं कक्षा में अंग्रेजी माध्यम से पढ़ने वाले बेटे को भी गीत-संगीत, चित्र...
प्लीजेंट वैली राजपुर, देहरादून से प्रकाशित मासिक पत्रिका 'हलन्त' के अंक नवम्बर, 2019 में प्रकाशित मेरी रचना 'वीरानियाँ नहीं होती"जिंदगी में हमारी अगर दुशवारियाँ नहीं होतीहमारे हौसलों पर लोगों को हैरानियाँ नहीं होतीचाहता तो वह मुझे दिल में भी रख सकता थामुनासिब हरेक...