ब्लॉगसेतु

..............................
..............................
साभार : Encyclopedia Britannicaमुझे आज से पांच दशक पहले का समय याद आता है, जब घर के आंगन में गौरैया बेखौफ फुदकती थी और घर वालों को उसका फुदकना, चहचहाना बहुत भाता था। उसकी चहचहाहट को घर के लिए शुभ माना जाता था, लेकिन आज उसी गौरैया के दर्शन दुर्लभ हो गए हैं। ऐसा...
इंडियन बर्ड कंजर्वेशन नेटवर्क ( आईबीसीएन ) ने केरल के पक्षियों का वर्गीकरण कर उसका एटलस तैयार करने का निर्णय लिया है। यह किसी भी भारतीय राज्य का पहला बर्ड एटलस होगा। बर्ड एटलस क्षेत्र विशेष में मौजूद पक्षियों की जानकारी देता, साथ ही, यह उस क्षेत्र में पक्षियों के आ...
पक्षियों के कूकने, चहकने व गीत गाने के पीछे भले ही जो कारण होता हो लेकिन एक नए शोध के अनुसार नर बुलबुल खुद में बेहतर पिता के गुण को दर्शाने के लिए गीत गाता है। जर्मनी के फ्रेई यूनिवर्सिटी की ओर से किए अध्ययन में पाया गया कि बुलबुल में बेहतर गायक अपने बच्चों का बेहत...
आज विश्व गौरैया दिवस है। विश्व गौरैया दिवस पहली बार वर्ष 2010 ई. में मनाया गया था। यह दिवस प्रत्येक वर्ष 20 मार्च को पूरी दुनिया में गौरैया पक्षी के संरक्षण के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए मनाया जाता है।जैसा कि आप सबको व...
नमस्कार मित्रो ,सबसे पहले हर्षवर्धन जी को मेरा शुक्रिया इस ब्लॉग में लेखक के रूप में शामिल करने के लिए . हर्षवर्धन जी की गोरैया के लिए ब्लॉग बनाकर चलाई गयी मुहिम स्वागत योग्य है . मैंने इससे पहले अपने ब्लॉग मुकेश पाण्डेय चन्दन में पक्षी श्रृंखला   &n...
वैसे हमारे देश भारत में गौरैया को कई नामों से पुकारा जाता है। जैसे गौरा और चटक।  लेकिन क्या आप जानते हैं कि हमारी इस घरेलू पक्षी (गौरैया) के और क्या - क्या नाम हैं ? उर्दू में गौरैया को चिड़िया तथा सिंधी भाषा में झिरकी भी कहा जाता है। गौरैया को भोजपुरी में चिर...
चित्र साभार : en.wikipedia.org सालिम मोईनुद्दीन अब्दुल अली( डॉ . सालिम अली) का जन्म 12 नवंबर, 1896 में वर्तमान मुंबई के सुलेमान बोहरा मुस्लिम परिवार में हुआ था। सलीम के पिता मोईनुद्दीन की मृत्यु उनके जन्म के 1 साल बाद हो गई थ...
एक-दो दशक पहले हमारे घर-आंगन में फुदकने वाली गौरैया आज विलुप्ति के कगार पर है। इस नन्हें से परिंदे को बचाने के लिए हम पिछले तीन सालों से प्रत्येक 20 मार्च को "विश्व गौरैया दिवस" के रूप में मनाते आ रहे हैं, ताकि लोग इस नन्हीं सी चिड़िया के स...