ब्लॉगसेतु

दोहों के प्रकार - 8 - नर दोहा।दोहों के तेईस प्रकार होते है।वैसे 13-11के शिल्प से दोहों की रचना हो जाती है जिनमें प्रथम और तृतीय चरण का अंत लघु गुरु(12) से तथा द्वितीय और चतुर्थ चरण का अंत गुरु लघु(21) से होता है।दोहे में कुल 48 मात्राएँ होती हैं।आंतरिक शिल्प की बात...
 पोस्ट लेवल : दोहे दोहा छंद छंद दोहा
शीर्षक : तटस्थरमा को अपना तटस्थ व्यवहार बहुत पसंद था। बड़ी से बड़ी बहस में भी वह अपना कोई मत प्रकट न करती और चुप्पी साध लेती। इसलिए वह सबकी प्रिय बनी रहती। आज फिर से एक नई बहस छिड़ी थी। कॉलेज में कमिटी के प्रेसिडेंट का चुनाव होना था। इस चुनाव में दोनों प्रतिद्वंदी , र...
 पोस्ट लेवल : लघुकथा
शीर्षक: उसे क्यों नहीं     एक ही महानगर में दोनों भाई-बहन अलग अलग घरों में रहते हुए अपनी अपनी नौकरियों में व्यस्त थे। भाई के पास माँ कुछ दिनों के लिए आई थी। वीकेंड में माँ ने बेटी के यहाँ जाने का मन बनाया था। सरप्राइज़ देने के ख्याल से वह बेटे के साथ...
 पोस्ट लेवल : लघुकथा
दोहे तेइस प्रकार के होते हैं...पिछले पोस्ट में तीन प्रकार के दोहे प्रकाशित हैं|4- श्येन दोहा19 गुरु और 10 लघु वर्ण22 2 11 2 12 ,22 2 2 212 2 12 121 2, 222 1121भोले फूल समेटते, प्यारी- प्यारी गंध।ज्यों ही हवा चली वहाँ, टूटे हैं अनुबंध।।1यादों की परछाइयाँ, यादों की ह...
 मैं वापस आऊँगा      हवाई जहाज ने टेक ऑफ़ के बाद स्थिर रफ़्तार पकड़ ली थी| जल्द ही श्वेत बादलों को टक्कर देती हुई ऊँची उड़ान भरने लगी|पूरे आठ घंटे का सफर था|      आज घर से निकलने के कुछ देर पहले पिता जी सीढ़ियों से गिर गये थे| कोई...
 पोस्ट लेवल : कहानी
वक़्त==============ये वक़्त भी क्या शय हैकितना कुछ समेटतीकितना कुछ बिखेरतीजाने कितने वादे किएसपनों की टेकरी मेंजाने क्या क्या इरादे दिएकहीं झंझावात देतीकहीं खुशियों को मात देतीवो मरज़ी रही उसी कीकुछ सुनहरे कुछ रुपहलेमित्रों से मुलाकात देतीइतिहास भी उसी से हैकई राज भी...
 पोस्ट लेवल : कविता सभी रचनाएँ
दोहों का सामान्य शिल्प 13-11 का होता है।आंतरिक शिल्प के आधार पर दोहे 23 प्रकार के होते है।यह है तीसरा प्रकार...छंद विशेषज्ञ नवीन सी चतुर्वेदी जी के दोहे उदाहरणस्वरूप दिए गए हैं।उसी आधार पर मैंने भी कोशिश की है।शरभ दोहा20 गुरु और 8 लघु वर्ण22 2 11 2 12, 22 2 2 212 2...
 पोस्ट लेवल : दोहा छंद छंद दोहा
दोहों के प्रकार पर कार्यशाला 2 - सुभ्रमर दोहादोहों के तेईस प्रकार होते है। वैसे 13-11के शिल्प से दोहों की रचना हो जाती है जिनमें प्रथम और तृतीय चरण का अंत लघु गुरु(12) से तथा द्वितीय और चतुर्थ चरण का अंत गुरु लघु(21) से होता है।दोहे में कुल 48 मात्राएँ होती हैं।आंत...
 पोस्ट लेवल : दोहा छंद छंद दोहा
दोहों के प्रकार पर आज की कार्यशाला 1-भ्रमर दोहादोहों के तेईस प्रकार होते है। वैसे 13-11के शिल्प से दोहों की रचना हो जाती है जिनमें प्रथम और तृतीय चरण का अंत लघु गुरु से तथा द्वितीय और चतुर्थ चरण का अंत गुरु लघु से होता है।कुल 48 मात्राएँ होती हैं।किंतु आंतरिक शिल्प...
 पोस्ट लेवल : दोहा छंद छंद दोहा
कैसा मिला है साथशीतल उष्ण मिल गएजैसे तुम और हमचक्र घूम कर बता रहाकभी खुशी या गमजो पिघला वह ठोस हुआजीवन अनबुझ राजपतझर की लीला बड़ीबजा बसन्त का साजसूर्य बिना वह कुछ नहींचँदा का मन जान रहाकहाँ तपन घट जाएगीसूरज को भी भान रहाएक दूजे बिन हैं अधूरेपर मिलन की राह नहींअवनी अ...
 पोस्ट लेवल : कविता सभी रचनाएँ