ब्लॉगसेतु

1नभ सिन्दूरीचहचहाहट सेपुलका नीड़2सांध्य नायिकाफैला रही आँचललौटे पथिक3साँझ की बेलाताकता रहा चाँदजो है अकेला4उठो मुनियादीया बाती लगाओसाँझ आयी है5बोझिल तनशाम की आहट सेहुलसा मन6वृद्ध है दिनसाँझ के साथ आईसहेली निशा
587अद्भुत प्रेमपुष्प और सुगंधमाली के हाथ586नभ में घननैनों संग काजलप्रेम मिलन585विरही मनकोयल की कूक मेंदिल की हूक584पुष्पवाटिकामिलन का माधुर्यराम जानकी583कान्हा की बंशीराधिका की पैंजनीशाश्वत प्रेम582कृष्ण दीवानीमीरा बन भटकीप्रीत रुहानी581अग्नि के फेरेदेते सात वचन दू...
576तनिक ठहरओ जीवन लहरजी लूँ जी भर575जीवन सिंधुसुख दुःख दो तटप्रेम लहर574तट से बँधीसागर की लहरेंव्याकुल मन573रंग जोगियादेशभक्ति लहरफूल पलाश572ऊँचा गगनपवन की लहरफहरा ध्वज571खिले मोगरेसुगंधों की लहरले चली हवा570सात रंगों कीलहरदार चुन्नीइंद्रधनुष569प्रसवकालदर्द की लहर...
 पोस्ट लेवल : हाइकु लहर हाइकु
565 जले अलाव गप शप में सिंकी यादों की लिट्टी564केंद्र अलावपरिधि पर जुटीसर्द हथेली563शीत लहरगुलबंद लपेटोआठो पहर562खुले दरीचेसरसरा के आएशीत के खत561हीरों का हारवल्लरी पर सजीओस की बूँदें560धूप से डरीकोमल शबनमफुर्र से उड़ी559धूमिल उषाकुहासों के जाल मेंफँसा है रवि558ममत...
 पोस्ट लेवल : हाइकु मौसम हाइकु
554युगल मैनाप्रतीक मिलन काहर्ष संकेत553शांति का दूतधैर्यवान कपोतमनु का संगी552कीवी परिंदाउड़ान से रहितनारी जीवन551कठफोड़वाकुरीति को छेदतातर्कपुरुष550हमिंग बर्डदोतरफा उड़ाननापे जहान549चंचल नेत्रनिलछौंहा खंजनतराई क्षेत्र548शहरी लोगआँगन में गौरैयाढूँढती पानी547प्रेम क...
 पोस्ट लेवल : हाइकु पंछी हाइकु
543.टूटा गुल्लकखनखनाते सिक्केरामू की खुशी542.ट्रक से गिरींगिट्टियाँ तोड़ रहींरात्रि का मौन541.खिलते फूलगुनगुनाते अलिआया बसंत540.श्रावण माहनाचे मन का मोरहवा में शोर539.बन्द कमरेमुसलाधार वर्षाशोर ले आई|538.ढोलक बजीनजरों में समाएअनाथ बच्चे537.कहते व्यथापतझर के पत्तेबह...
 पोस्ट लेवल : हाइकु ध्वनि आधारित
532सृष्टि चूनरईश्वर रंगरेजछिटके रंग|531पावस धोबीधो रहा फूल शूलभेद न भाव|530संस्कार सोनाहया की मीनाकारीबेटी, न खोना|529प्रेम के धागेभावों की बुनकरीवस्त्र रिश्तों के|528प्रात की बेलापिरो रही मालिनशुभ सुगंध|527कुशल मिस्त्रीतृण तृण सजाईबया ने नीड़|526हवा धुनियारेशे रेश...
 पोस्ट लेवल : हाइकु श्रमिक हाइकु
521रबी खरीफनक्षत्रों का हो ज्ञानतूर की खान520तपता मृगरोहिणी भी बरसेधान हरसे519कृष्ण दशमीआषाढ़ की रोपनीधान बाहुल्य518खेत की माटीअनगिन गोड़ाईऊख सरस517चना की खोंटमकई की निराईरंग ले आई516बीज की मात्राप्रति बीघे में गेहूँपाँच पसेरी515खेत ऊर्वरनाइट्रोजन वृद्धिदालों की खे...
500मंद समीरकचनार की कलीहौले से हिली499बजी सीटियाँबँसवारी में सखीहै पुरवाई498उड़ा कपासहवा की दिशा कामौन इशारा497योग अभ्यासपवन संग डोलेखेतों में काँस496बासंती हवाउड़ता मकरंदबौराया बाग495फागुन आयारूप रस गंध कीरंगीन हवा494समुद्री तटशीतल बयार मेंप्रेम का झोंका493सुहानी...
490लोरी सुहानीबुन रही है मातारिश्ते रुहानी489सुन के लोरीनिंदिया रानी आईस्वप्न सजाई।488रोता है लल्लालोरी गा रही मम्माचाँद का चुम्मा।487दूध कटोरीगोल गोल बताशामधुर लोरी।486अनाथालयकल्पना बन आतीलोरी की धुन।485लोरी तकलीकाते स्वप्न के धागेमाता की गोद।484लोरी हिरणकुलाँचे भ...
 पोस्ट लेवल : बाल हाइकु हाइकु