ब्लॉगसेतु

फ़ासिज़्म की एक पहचान यह भी है कि इसके पेरुकार अपने खिलाफ उठने वाली आवाज़ को बर्दाश्त नहीं कर सकते, हर हाल में कुचल डालना चाहते हैं!
दोस्ती ज़िंदाबाद...
 पोस्ट लेवल : Facebook
अगले साल लोकसभा के चुनाव हैं हार के डर से मोदी जी मस्जिदों में घूम रहे हैं ताकि मुस्लिमों का वोट काट सकें इसके जवाब में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मंदिरों में घूम रहे हैं ताकि हिंदुओं का वोट काट सकें और एक ये केजरीवाल है जो अभी भी मोहल्ला क्लीनिक, अच्छे स्कूल बना...
 पोस्ट लेवल : Facebook
अक्सर नास्तिक भी अपनी आस्था की अंधभक्ति मे आस्तिक अंधभक्तों से ज़्यादा कट्टर बन जाते हैं। और इसी कारण यह दूसरों के तर्कों को कुतर्क की संज्ञा देकर अपने दिमाग़ से दूर छिटक देते हैं। विपरीत सोच रखने वालों की आस्था या विचार का मज़ाक बनाना, नफरत करना और अपनी राय को ज़बरदस्...
 पोस्ट लेवल : Facebook
यह एक गलत तर्क है कि सजा का मकसद केवल दोषी को सुधारना होता है, सजा का मकसद केवल दोषी को सुधारना नहीं बल्कि बाकी लोगो को गलत कार्य और उसके परिणाम के प्रति चेताना भी होता है। मतलब बुरे काम का बुरा नतीजा आना आवश्यक है। अगर बुरे काम के भी अच्छे नतीजे आने लगे तो हर कोई...
 पोस्ट लेवल : Law & order Nyay Social
सामाजिक न्याय और बराबरी के लिए लड़ने वाले स्वर्गीय असग़र अली इंजिनियर साहब मुझ जैसे अनेकों के लिए प्रेरणास्त्रोत थे और हमेशा रहेंगे, उन्होंने अपनी सारी ज़िन्दगी गैर-बराबरी और धार्मिक कट्टरपंथ के विरुद्ध संघर्ष में बिता दी... असग़र अली इंजीनियर साहब ने इस...
अगर माँ-बाप ने दुनियावी पढ़ाई के मरकज़ यानी स्कूल में दाखिला करा दिया और छात्र का जज़्बा आलिम या मुफ़्ती बनने का था तो नहीं बन सकता, ऐसे ही छात्र का दिल तो डॉक्टर / इंजिनियर / मार्केटिंग प्रोफेशनल / डिज़ाइनर इत्यादि बनने का था मगर माँ-बाप ने दाखिला दीनी मदरसे में कराया,...
 पोस्ट लेवल : Education Madarsa Social
GDP गिर रही है, व्यापार का बुरा हाल है, सारा बाज़ार चंद कारोबारियों की मुट्ठी में पहुंचाया जा रहा है, नौकरियाँ खत्म हो रही हैं, जबरन टेक्स बढ़ाया जा रहा है, महंगाई रोज़ बढ़ रही है, इंफ्रास्ट्रक्चर में कुछ नया नहीं हुआ, सार्वजानिक शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में हाला...
 पोस्ट लेवल : Government-failure Indian-politics Weak-opposition
इन नफ़रत पालने वालों कोकहां परवाह है सत्य कीउन्हें बस नफरत है,कुछ नामों से,कुछ चेहरों से,कुछ लिबासों से,और अपने ख़िलाफ़उठती हुई आवाज़ों से...- शाहनवाज़ 'साहिल'#हिन्दी_ब्लॉगिंग
Ameeque Jamei को भाजपा विधायक ओ पी शर्मा ने मीडिया के सामने तथा आप पार्षद राकेश कुमार को भाजपा पार्षदों ने कैमरे के सामने मारा था, क्या कोई कार्यवाही हुई थी?पर वहीँ दूसरी ओर एक शिकायत भर पर पुलिस दिल्ली के आम आदमी पार्टी के विधायक को प्रेस कॉन्फ...