ब्लॉगसेतु

"ऐ मन्नू, मुझे देर हो जाएगी,  तू ये पैकेट रख।  मुझे शाम को दे देना। "" क्या है इसमें ? चूड़ियां !!!  ये औरतों की चीज़ें मैं कहाँ रखूं ? तू ले जा। ""मुझे देर हो रही ऑफिस के लिए , वहाँ ड्यूटी पर कहाँ रखूंगी।  तू रख, शाम को बस स्टैंड पर पकड़ा देना।&nb...
मुझे यात्राओं का कोई बहुत ज्यादा मौका नहीं मिला है; पुराने ज़माने के लोगों की तरह मेरी यात्रा भी छुट्टियों में ननिहाल जाने या बहुत हुआ तो किसी और रिश्तेदार के यहां जाने तक का एक सीमित अनुभव है ।  पर इस सीमित यात्रा में भी जो कभी रो...
Me : It is very boring today.Time :  .....Me : How to pass the time ?Time : You can't pass me.you are going through me. Every second, every nano second.Me : I have not asked for a philosophical response.Time :  I am everywhere, you can't escape.Me : I hav...
 पोस्ट लेवल : Essays random thoughts fiction essay fantasy
 "क्योंकि, मैं तुम्हारा  लौह आवरण उतरते देख रहा हूँ। "'और तुम खुश हो रहे हो ?"" नहीं, लेकिन इतना अंदाज़ा नहीं लगाया था मैंने।""किस बात  का अंदाज़ा ?""तो क्या अंदाज़ा था तुम्हारा ?""जो भी था, जाने दो। ""मेरे ख्याल से एक एक कंकर  फेंकने के बजाय...
"धड़कते हैं दिल कितनी  आज़ादियों से, बहुत मिलते जुलते हैं इन वादियों से" .....  "क्या खूबसूरत गाना  है, लिरिक्स  क्या कमाल का है.;  कहानी की शुरुआत के लिए इससे बेहतर पंच  लाइन और क्या होगी ?""तुम एक घनघोर  decadent  &...
Me :-  Hey God, give me some Buddhi.God :- Sorry, it's out of stock.Me :- when are you going to restock it ?? God :- Can't say, actually I have to inquire with the staff of Devi Saraswati. She has stricked the supply.Me :- Why !!!!God :- Misuse or No use at al...
 पोस्ट लेवल : Humor
आज मैंने बरसो बाद रात के आसमान में, काले सलेटी बादलों के  मेले में छिपते छिपाते चाँद को देखा।  एक सफ़ेद मोती, चांदनी का थाल, आसमान की चादर पर टंका रेशम का टुकड़ा। ये चाँद फूली हुई रोटी कैसे लग सकता है ??? रोटी तो हलके भूरे गेहुएँ रंगत वाली और छोटी छोटी काली...
 पोस्ट लेवल : Hindi Essays night moon
इस दुनिया का हर आदमी एक कहानी है।  उसका बोलना, चलना, रहना,  व्यव्हार, जीवन सब कुछ एक लम्बी ऊबा देने वाली कहानी है जिसके प्लाट और थीम को हर समय प्रेडिक्ट करने की कोशिश की जाती है।  दुनिया का ये सारा कारोबार, ये जगमग, ये  कोलाहल इन ढेर सारी कहानिय...
 पोस्ट लेवल : human life Hindi Essays random thoughts Life
Year 2045Eyes closed, head laid back on my fluffy pillow, slipped inside the warm quilt made of Jaipur cotton and that ethereal music of water fall was slowly murmuring in my ears.  I was resting on my bed, totally at peace, the lights and the temperature of t...
My Dear Little Girl,How are you ? It has been a long time since we have spoken to each other.  It has been more than ten long years of that December morning, a whole decade !!! when we made a promise to ourselves. I know, how much you exactly  remember ev...