ब्लॉगसेतु

// व्यंग्य-प्रमोद ताम्बट//         कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभुत्व से चिंतित होकर परंंपरागत रूप से हमारे साथ खेल-कूद कर बड़े हुए वायरसों में गहरा असंतोष एवं आतंक का वातावरण उत्पन्न हो गया था । उन्होंने व्यांपक लॉकडाउन में भी किसी तरह एक-दूसर...
 पोस्ट लेवल : व्यंग्य
//व्यंग्य-प्रमोद ताम्बट//          पॉजीटिव होना भी क्‍या ग़जब की बात है। घबराइये नहीं, मैं कोरोना पॉजीटिव होने की बात नहीं कर रहा। मैं तो जीवन की हज़ारों निगेटिविटियों के बीच रहते हुए भी घोर पॉजीटिव बने रहने की अद्भुत अतिमानवीय क्षमता की बा...
 पोस्ट लेवल : व्यंग्य
//व्यंग्य-प्रमोद ताम्बट//मैंने अक्सर देखा है कि जैसे ही साहित्य सृजन का मूढ़ मेरे अन्दर धनीभूत होता है, कोई न कोई आकर उसमें व्यवधान खड़ा कर देता है। उन्हें ज़रा भी इस बात का अन्दाज़ा नहीं होता कि उनके इस कुकृत्य से साहित्य का कितना भारी नुकसान होगा। साहित्य का गोदाम एक...
 पोस्ट लेवल : व्यंग्य
//व्यंग्य-प्रमोद ताम्बट//          महानगर की एक खूबसूरत कोरोना पॉजीटिव दोशीज़ा ने किसी दूसरे शहर में अपने रिश्ते दार को लैंडलाइन फोन से सम्पर्क किया तो उसके अन्दर बैठा हुआ कोरोना वायरस खुशी से झूम उठा। उसे भी अपने रिश्ते्दार से बातचीत करने क...
 पोस्ट लेवल : व्यंग्य
//व्‍यंग्‍य-प्रमोद ताम्‍बट//पुलिस विभाग को कांट्रेक्ट बेसिस पर प्रखर कल्‍पनाशील कहानीकारों की आवश्‍यकता है जो कि उपलब्ध कराए गए मौका-ए-वारदात पर फौरन उपस्थित होकर विभागीय एनकाउन्टर्स, हवालात में मारपीट के बाद मृत्यु, दबिश, पब्लिक पर किये गए ज़ुल्‍मों इत्‍यादि पर शी...
 पोस्ट लेवल : व्यंग्य
//व्यंग्य-प्रमोद ताम्बट// कांग्रेस जब देखो तब भ्रम फैलाती है। वैसे कांग्रेस भ्रम की जगह कुछ और भी फैला सकती है मगर कांग्रेस को भी देखिए आजकल और कोई काम-धाम ही नहीं है, वो सिर्फ और सिर्फ भ्रम ही फैलाती रहती है। एक दिन तो मैं भारी चिंता में पड़ गया कि कांग्रेस अग...
 पोस्ट लेवल : व्यंग्य
//व्‍यंग्‍य-प्रमोद ताम्‍बट//कोरोनावर्त के अन्तर्राष्ट्रीय कोरोना डिप्लाईमेंट सेंटर में रात दो बजे से ही जबरदस्त भीड़ लगना शुरू हो जाती है। हर उम्र के कोरोना वायरसों के झुंड के झुंड अपनी-अपनी मनपसन्द जगहों पर डिप्लाईमेंट पोस्टिंग की हसरत लिए अपने बीवी-बच्चों और रिश्‍...
 पोस्ट लेवल : व्यंग्य
//व्यंग्य-प्रमोद ताम्बट//वाट्सअप ग्रुप आजकल इफरात में बढ़ चले हैं । इससे साबित होता है कि निठल्‍ले भी बड़ी तादात में बढ़ गए हैं। इन निठल्‍लों ने अपने-अपने वाट्सअप ग्रुप बना रखे हैं और अपनी सल्‍तनतों की तरह वे रात-दिन उन ग्रुपों की छाती पर सवार रहते हैं । एक ग्रुप स...
 पोस्ट लेवल : व्यंग्य
//व्यंग्य-प्रमोद ताम्बट//आ गए, आ गए, आ गए, मल्टी स्पेशियलिटी, मल्टीपरपज़ फेस मास्क आ गए । शानदार डिज़ाइनर मास्कों की बेहतरीन रेंज आकर्षक दामों में। हमारे फेस मास्कों को लगाने से कोरोना के नाक-मुँह में घुसने का खतरा तो खत्म हो ही जाता है, एक से एक बेहतरीन सुविधाएँ भी...
 पोस्ट लेवल : व्यंग्य
//व्यंग्य-प्रमोद ताम्बट//भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था एक ऐसी व्‍यवस्‍था है जिसमें न कोई ‘अर्थ’ है और न कोई ‘व्‍यवस्‍था’। यह  एक ऐसी अर्थव्‍यवस्‍था है जिसका ‘अर्थ’ व्‍यवस्‍था के ऊपर और ‘व्‍यवस्‍था‘ अर्थ के ऊपर चढ़ कर बैठी हुई होती है। यह वैसा ही है जैसा कि यह सवाल- ला...
 पोस्ट लेवल : व्यंग्य