ब्लॉगसेतु

ग्वारपाठा या घृतकुमारी(एलोवेरा) को 20gm. मात्रा मेँ लेकर 20ml. पानी के साथ मिक्सी मेँ जूस बनाकर रख लेँ। इसी तरह रोजाना ताजा जूस बनायेँ। सेवन मात्रा :- 20ml. सुबह खाली पेट और 20ml. रात को सोते समय। उपयोग :- आँतोँ की सूजन, अपेँडिक्स, खूनी एवं बादी बवासीर, कब्ज,...
चाइनीज गर्भावस्था कैलेंडर को बहुत ही ऐतिहासिक माना जाता है और यह लगभग 700 साल पुराना भी माना जा रहा है । हर गर्भवती महिला में इस बात को लेकर भी उत्साह रहता है कि उसका होने वाला बच्चा लड़का होगा या लड़की। आज चीनी कैलेंडर का प्रयोग होने वाले बच्चें का लिंग...
दिल के दौरे या स्ट्रोक से दिलोदिमाग के टिश्यु को होने वाले नुकसान को अब काफी हद तक रोका जा सकेगा । Scientists ने ऐसी दवा खोजने का दावा किया है , जिसे समय रहते देने पर टिश्यु को होने वाले नुकसान को 60 प्रतिशत तक रोका जा सकेगा । इस दवा का इस्तेमाल ऐसी सर्जरी के...
 पोस्ट लेवल : स्ट्रोक दिल का दौरा
आमतौर पर अगस्त के महिने से कंजंटिवाइटिस का संक्रमण शुरू हो जाता है । दरअसल , इस महिने मेँ बारिश और उमस के चलते बैक्टीरिया-वायरस का संक्रमण बढ़ जाता है । यही वजह है कि लोगोँ की आँखेँ भी बीमार होने लगती हैँ । यह बीमारी एक मरीज से दूसरे व्यक्ति को आसानी से संक्रमित...
क्या आप जानती हैँ कि गर्भावस्था के दौरान आपकी डाईट भी बच्चे के दाँत को प्रभावित करती है ? मोती जैसे चमकते दाँत जहाँ आपके मुखड़े की खूबसूरती मेँ चार चाँद लगाते हैँ , वहीँ उसे तंदरूस्त भी रखते हैँ । दाँत सिर्फ भोजन को चबाकर आसानी से पचाने लायक ही नहीँ बनाते हैँ बल्...
मूंछेँ मर्दोँ की शान होती हैँ , लेकिन ऐसी शान जो जान पर भारी पड़ जाए उसका भला आप क्या करेंगे । यदि आप किसी तरह की एलर्जी से परेशान रहते हैँ तो दाढ़ी या फिर मूंछ रखने से पहले आपको सोचना पड़ेगा । एक अध्ययन के मुताबिक मूंछ रखने वाले लोग सांस सम्बन्धी एलर्जी के प्रति अध...
 पोस्ट लेवल : एलर्जी
परिचय :- इग्नेशिया औषधि बच्चों के रोग तथा स्त्रियों में उत्पन्न होने वाले हिस्टीरिया रोग में अत्यन्त लाभकारी होती है। यह औषधि विशेष रूप से उन स्त्रियों के हिस्टीरिया रोग में अधिक लाभकारी होती है जो सुशील, अधिक कार्य करने वाली तथा नाजुक होती हैं। हिस्टीरि...
 पोस्ट लेवल : होमियोपेथी
सुपर फुड अलसी में ओमेगा थ्री व सबसे अधिक फाइबर होता है। यह डब्लयू एच ओ ने इसे सुपर फुड माना है। यह रोगों के उपचार में लाभप्रद है। लेकिन इसका सेवन अलग-अलग बीमारी में अलग-अलग तरह से किया जाता है। स्वस्थ व्यक्ति को रोज सुबह-शाम एक-एक चम्मच अलसी का पाउडर पानी के साथ ,स...
फ्लैक्सीड या अलसी की मदद से सेक्स से जुड़ी समस्याओं का समाधान निकाला जा सकता है। महिलाओं व पुरूषों में सेक्सुअली सक्षम न हो पाने का एक प्रमुख कारण है पेल्विस की रक्त वाहिनियों में रक्त का सही तरीके से प्रवाह न होना। फ्लैक्सीड के लगातार प्रयोग से रक्त वाहिनियां खुल...
स्‍त्री का मन पुरुषों के तन को निष्क्रिय कर देता है। कहने का तात्‍पर्य यह है कि स्त्रियों की भावुकता, उनके आंसू पुरुषों के संभोगेच्‍छा को मार डालती है। महिलाएँ भले ही पुरुषों से अपनी बात मनवाने के लिए आसुओं को अपना हथियार मानती हों लेकर उनका यह हथियार उलटवार भी कर...