ब्लॉगसेतु

एक हृदयविदारक घटना वहाँ जहाँ दो पुलिस चौकी के बीच 2.5KM का रास्ता है। बीच में हिंडन नदी और उसका पुल। नदी का इनकैचमेंट क्षेत्र होने के&n...
फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ की ग़ज़ले, नज़्में जानकार लोग एक ज़माने से पढ़ते आये है। मैंने कई मंचो पर शदारत करते हुये फ़ैज़ के शेर पढ़े है। कई बार दफ़्तर जाते हुये, कई ड्राइव करते हुये फ़ैज़ अक्सर ज़ुबाँ पर चले आते है।आप भी पढ़िये गुनगुनायिए अभ्यास भी करिये। पर इन महान साहित्...
पापी पेट की भूख मिटाते, मुल्ला की तरह मस्जिद की दौड़ लगाते, गाहे-बगाहे  चाय की चस्कियों के बीच कभी गरम, कभी नरम राजनीतिक और सामाजिक चर्चाओं में। एक बरस और बीता। अपने लिये बहुत ज़्यादा जिये, समाज के लिये बहुत कम।कलमों में सफ़ेद बाल भी इसी बरस आये। एक्का-दुक्का...
बाबरी ढाँचे की मानिन्दअदालतों में दशकों से लम्बितमैं भारत का आम आदमी हूँ।पानी से लेकर हवा तकचर्चा, चर्चा और केवल चर्चासंसद के गोल गुम्बद के नीचेनीति आयोग के बुद्धजीवियों के बीचअर्द्धशती गुजरी पर मैं जस का तसकुपोषण के बीच विकसित होता हुआरेलवे किनारे, फुटपा...
ख़ामोश लब हैं झुकी हैं पलकें, दिलों में उल्फ़त नई-नई है, अभी तक़ल्लुफ़ है गुफ़्तगू में, अभी मोहब्बत नई-नई है। अभी न आएँगी नींद न तुमको, अभी न हमको सुकूँ मिलेगाअभी तो धड़केगा दिल ज़्यादा, अभी मुहब्बत नई नई है।बहार का आज पहला दिन है, चलो चमन में टहल के आएँफ...
बक़ौल जनाब ‘दुष्यन्त कुमार’‘भूख है तो सब्र कर, रोटी नहीं तो क्या हुआआज दिल्ली में है, ज़ेरेबहस ये मुद्दा’
Have you ever realised that sports Industry is uses analytics heavily. Whether it is cricket, football, badminton or otherwise do heavily rely on analytics for SWOT analysis of opponent. Carrier graph of sportsman it's comparison with peers is p...
गाँधीवाद के बुनियादी सिद्धान्त स्क्रीनशॉट में है। इनमे से कुछ यदि हम सीख सके औत कुछ अपनी पीढ़ियों को सिखा सके तभी एक बेहतर समाज का निर्माण हो सकता है।
 बक़ौल कैफी आज़मीराम बनवास से जब लौट के घर में आये,याद जंगल बहुत आया जो नगर में आये,रक्स-ए-दीवानगी आँगन में जो देखा होगा,6 दिसम्बर को श्री राम ने सोचा होगा,इतने दीवाने कहाँ से मेरे घर में आये?जगमगाते थे जहाँ राम के क़दमों के निशाँ,प्यार की कहकशां लेती थी अंगड़...
भारत की राजनीतिक राजधानी से करीब 350 किलोमीटर की दूरी पर बसा है एक जिला फर्रुखाबाद। इस जिले को कानपुर और बनारस के साथ गंगा किनारे वाला होने का सौभाग्य भी प्राप्त है। शहर सीमित है और शान्त भी!! राजनीति हो कला हो विज्ञान हो या आधुनिकता का चलन है सब कुछ पर सीमित चन्द...
 पोस्ट लेवल : जिला फर्रुखाबाद