ब्लॉगसेतु

जैसे-जैसेब्लाग की उम्रबढ़ती जा रही हैआप से आपकड़ियों की संख्या भीबढ़ती ही जा रही हैअपनी उम्र की तरह....आज के अंक में पढ़िए कुछ नई-जूनी रचनाएं....उफ़ अरहर की दाल ने,हाल किया बेहाल। दो सौ रुपया प्रति किलो,से ऊपर है दाल।एक खत.....तुम्हारे मन में भी ख्यालों का...
 पोस्ट लेवल : क्रमांक - 93
जय मां हाटेशवरी....आज कल मंदिरों में...भगतों की भीड़ लगी है...कोई तो है...जेस के पास हम अपनी मन की मुर्ातें... पुरी करने की इच्छा से जाते हैं....पेश है आज की हलचल इन चंद पंखतियों के साथ....पता नहीं कितनी रिक्तता थी-जो भी मुझमे होकर गुजरा -रीत गया पता नहीं कितन...
 पोस्ट लेवल : क्रमांक - 92
सभी को दशहरा की अशेष शुभकामनाओंसंगयथायोग्यप्रणामाशीषश्रद्धा सुगन्धदेव द्वार से लाईबहेतु हवाअबोलवो हमसे से बात ना करे ,थोड़ा बुरा लगता हैपर हम भी वही करे ,गलत तो ये भी होता हैकोई इस राह चलता हैसमय के साथ कहते हैंनहीं मानक बदलते हैंकसौटी एक ही रहती हैनमूने ही बदलते ह...
 पोस्ट लेवल : क्रमांक - 91
संजय जी की प्रस्तुति कल आप सभी ने देखा ही होगामैं सराहना करती हूँएक अजब सा संयोग.. बनता जा रहा है 2015 में दो-दो उत्सव एक साथ हो रहे हैंइस माह...एक दिन के फर्क में दशहरा और मोहर्रम लगभग साथ-साथ हैईश्वर भी पक्षधर हैह...
 पोस्ट लेवल : क्रमांक - 90
आप सभी को संजय भास्कर का नमस्कारपांच लिंकों का आनन्द ब्लॉग पर आज मेरी पहली प्रस्तुति है इस के लिये आदरणीय यशोदा दीदी व समस्त पांच लिंकों का आनन्द परिवार का आभारी हूँ  जिन्होंने मुझे इस ब्लॉग से जुड़ने का अवसर दिया मेरा ये प्रयास रहेगा आप सभी के लिये बढ़िया प्रस्...
 पोस्ट लेवल : क्रमांक - 89
जानकारी देते हुए हर्षित हूँ....कल गुरुवार से हर गुरुवार.. भाई संजय भास्कर की पसंदीदा रचनाओं का आनन्द प्राप्त होगा आपकोजय मां हाटेशवरी...महाशक्ति की आराधना का पर्व है नवरात्रि। तीन हिंदू देवियों - पार्वती, लक्ष्मी और सरस्वती के नौ विभिन्न स्वरूपों की उपासन...
 पोस्ट लेवल : क्रमांक - 88
वो कहते हैं...उदास नहीं होना, क्योंकि मैं साथ हूँ!सामने न सही पर आस-पास हूँ!पलकों को बंद कर जब भी दिल में देखोगे !मैं हर पल तुम्हारे साथ हूँ !..सादर अभिवादन..ये रही आज की पसंदीदा रचनाओं के सूत्र..रौशनी है लोहे के घर में अँधेरा है खेतों में, गाँवों मे...
 पोस्ट लेवल : क्रमांक - 87
बस अभी लौटी हूँमद्रास से....सब ठीक-ठाक है...सादर अभिवादन स्वीकारें....आज की कड़ियाँ मैं चुन रही हूँ...पढ़ रही हूँ और सुन भी रही हूँ..आप सुनेंगे....सुनाती हूँ...ये रही आज की कड़ियां.....मुश्किल होता है समझ पाना या की खुद को समझा पाना जब आप किसी के साथ चल र...
 पोस्ट लेवल : क्रमांक - 86
जय मां हाटेशवरी...मैं इस बात पर जोर देता हूँ...  मैं महत्त्वाकांक्षा , आशा और जीवन के प्रति आकर्षण से भरा हुआ हूँ.... पर मैं ज़रुरत पड़ने पर ये सब त्याग सकता हूँ...और वही सच्चा बलिदान है.... भगत सिंह ने जो कहा...समय आने पर वो करके भी दिखाया...शत-शत न...
 पोस्ट लेवल : क्रमांक - 85
सभी कोयथायोग्यप्रणामाशीष4 सितम्बर 2014  यानि करीब 13 महीना पहले ; फेसबुक के इनबॉक्स में बात करते , मुझे आदरणीय सुरेश पाल वर्मा जसाला जी से इस विधा का पता चला .....---------[१]तूमेरा,मैं  तेरा,जीव-जीवकण -कण कातू ही आधार है ,प्रभु  निर्विकार है।-------...
 पोस्ट लेवल : क्रमांक - 84