ब्लॉगसेतु

मादा सेपियंस: दि हिस्‍ट्री ऑफ वीमेनकाइंड इतिहास अकेला अनुशासन नहीं है जिसमें यह मान लिया जाता है की पुरुषों के लिए तैयार अनुशासन में ही औरतें भी शामिल है।  आशय यह है अब तक हमारे पास एक इतिहास है, यह इतिहास है तो पुरुषों का इतिहास, लेकिन सुविधा और भलमनसाहत में...
भाजपा ने घोषणा पत्र तो जारी नहीं किया इसकी जगह एक 'संकल्प पत्र' जारी किया है (इसका जो भी मतलब आप लगाना चाहें) । यह एक शातिर डॉक्यूमेंट है, देखिए और एक मनोरंजक काम कीजिए हम लोग सोशल साइंस में कंटेंट एनालिसिस में ऐसा करते हैं-इस डॉक्यूमेंट के ऊपर सर्च विंडों में जाइए...
मग में भाप उड़ाती कहानी सलीके से उड़ेलते हुए वो हसरत से देखती है... सामने जो बागान का सौदागर था, शुगर पॉट आगे खिसकाते हुए सुझाता है डेढ़ चम्मच से मुकम्मल होनी चाहिए कहानी... हम देखेंगे, खुद को कहते सुनती है। चम्मच में झूठ भर वो उड़ेलती है मग में एक टीस्पून, दो, त...
 पोस्ट लेवल : मसिजीवी कहानी
उम्मीद एक दुधारी शब्द हैज़िंदा रखता हैलेकिन &#2332...
 पोस्ट लेवल : कविता मसिजीवी
कम ही लड़ाई हैं जो हम चुनते हैं बहुधा हमें मिलती हैं पराई लड़ाइयॉं जो हम पर थोपी गई थीं जिरहबख्‍तरों पर अगाध विश्‍वास वाले योद्धाओं ने। लड़ाइयॉं जिन्‍हें हम जीतना नहीं चाहते न ही हार से बचने के ही लिए लड़ रहे हैं हमअपनी कहूँ खड़ा हूँ इस बॉलकोनी पर अपने ही घर की जिस...
 पोस्ट लेवल : कविता मसिजीवी
मेरी वह दोस्त इतने भरोसे की जिससे बात करने मे&#23...
मेरी वह दोस्त इतने भरोसे की जिससे बात करने मे&#23...
 पोस्ट लेवल : मसिजीवी गद्य
एक होते हैं शब्द और होती है शब्दों की दुनिया ज&#2...
 पोस्ट लेवल : कविता मसिजीवी
प्रो. गोपेश्‍वर सिंह हमारे ही विश्‍वविद्यालय में हिन्‍दी के प्रोफेसर हैं। पहले विभागाध्‍यक्ष रह चुके हैं। कल के जनसत्‍ता में उन्‍होंने आलोचना की अधोगति के स्‍यापे में ठीकरा सोशल मीडिया के सर फोड़ा है। विनीत, रवीश और प्रभात जैसे सक्रिय ब्‍लॉगरों को उदाहरण की तरह...
आहत व्यासपोथी============एक तख्ती की तरह जमायापहला मजबूत विश्वासथोडा ठोका, दबायाफिर विश्वास की जमायीअगली तहपरत दर परतविश्वास की तलछट चट्टानकिसी एक आंधी भरी शामये व्‍यास  पोथीहो गयी भुरभुरे शब्दों कीभंगुर किताबएक तह के शब्द नश्तर होनिचली तह में घुस गएजंग खायी क...