ब्लॉगसेतु

डियर रीडर्स , आप सभी को मोहब्बत नामा ब्लॉग कि तरफ से नया साल मुबारक। दुआ है कि ये नया साल हम सभी के लिए ढेर सारी खुशियां लेकर आये। इस साल 2013 में इस ब्लॉग पर मै बहुत ही कम पोस्ट्स कर पाया। इसकी वजह लेखन की कमी नही बल्कि ब्लॉगिंग से दिलचस्पी कम होना है ,फिर भी आने...
 पोस्ट लेवल : मोहब्बत नामा
सुबह मेरी खिलेगी सिर्फ उनके मुस्कुराने से ,मेरी तन्हाईयाँ मिट जाएँगी बस उनके आने से ,                                  मेरी हर शाम क्या हर सांस बिना उनके अधूरी है ,    &n...
 पोस्ट लेवल : नगमाते आमिर
तुम्हारे प्यार को दिल में मै अपने Save कर लूँगा।जुदाई को हमेशां के लिए Delete कर दूंगा।                              ख्याल आये जो तेरे बाद किसी और का कभी ,         ...
 पोस्ट लेवल : नगमाते आमिर
हवा खुशनुमा वादियाँ भी हसीं हैं ,तुझे याद करने को दिल चाहता है।                               मेरा आज सब दूरियों को मिटाकर ,                &nbsp...
 पोस्ट लेवल : नगमाते आमिर
रात के अँधेरे में तन्हाई में बैठे हुए अयान की आँखों से आंसू जारी थे.आंसू की वजह थी रक्षा बंधन.और इससे जुडी एक याद.एक कहानी जिसने अयान की जिन्दगी बदल कर रख दी थी.अक्सर अयान कविता की याद में डूबकर रोता रहता था.और भुलाये से भी उसको भुला नही पाता था.एक लड़की जो उसकी जि...
देश की आजादी की खातिर कई भूख प्यास से मर गये ,तो कितने सारे नवजवान जंग के मैदानों में मर गये।                                   अंग्रेज भारत को तोड़ने के अरमानो में मर गये ,&n...
 पोस्ट लेवल : व्यंग्य नगमाते आमिर
जिससे मोहब्बत की है अगर उसी के साथ जिन्दगी के लम्हात गुजारना नसीब हो जाये तो क्या ही अच्छी बात है। कहते हैं की वर्ना मोहब्बत का गम जिन्दगी भर सताता रहता है। जिन्दगी के तजर्बात तो इस बात को गलत ही साबित करते नज़र आते हैं। शादी एक ऐसी जड़ी बूटी है जो मोहब्बत के सारे...
हर एक भारतीय नागरिक को अपने विचार प्रकट करने की आजादी है। आज तक मैंने कभी राजनीति के विषय पर नही लिखा। लेकिन राजनीति के विषय पर तरह तरह के लोगों के विचार पढ़े। कोई किसी पार्टी के पक्ष में लिखता है ,किसी के खिलाफ ,कोई किसी के पक्ष में लिखता है ,किसी के खिलाफ। लेकिन...
 पोस्ट लेवल : मेरा वतन भारत
मोहब्बत , जब होती है तो इन्सान सिर्फ कामियाब होने के ही ख्वाब देखता है ,मोहब्बत करने वाले कभी नकारात्मक सोचना भी पसंद नही करते ,लेकिन जब मोहब्बत नाकामी का मुह दिखाती है ,तो इन्सान टूट जाता है। इस गम से उभरने में काफी समय लगता है। लेकिन वक्त की दवा इसके जख्मो का मरह...
 पोस्ट लेवल : मोहब्बत नामा
बहादुर कौन तीन गप्पी गप्पें मार रहे थे। पहला : मेरे दादाजी इतने बहादुर थे की एक बार उन्होंने कुवें में डुबकी लगाई तो तालाब में से निकले।दूसरा : बस मेरे दादाजी तो इतने बहादुर थे की तालाब में डुबकी लगाई और समंदर में से निकले।तीसरा : बस ये तो कुछ भी नही ,मेर...
 पोस्ट लेवल : हंसगुल्ले