ब्लॉगसेतु

राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने पिछले दिनों आयोजित एक कार्यक्रम में कहा कि विभिन्न सामाजिक-आर्थिक कारणों की वजह से महिला पीड़ितों के प्रति एक अलग रूख रखा जाता है। इसलिए महिलाओं के खिलाफ होने वाली हिंसा से संबंधित सभी मामलों में पुलिस को लैंगिक दृष्टिको...
हालिया मंत्रिपरिषद विस्तार में सात महिलाओं को स्थान मिलने की खबर काफी चर्चा बटोर रही हैं। इन सात महिलाओं के शामिल होने के बाद अब 78 सदस्यीय मंत्रिपरिषद में महिलाओं की संख्या कुल जमा 11 हो गई है। इस तरह अब तक की गठित सरकारों में सर्वाधिक महिलाओं को इस मंत्रिपरिषद मे...
 पिछले दिनों एक ऐसी बुकलेट से रूबरू हुई जिसमें सौ महिलाओं की कहानियां दी गई हैं। ये इन महिलाओं की कहानियों से अधिक इस समाज की समस्या को इंगित करती हुई संबोधित है। ये सभी महिलाएं विज्ञान-टेक्नाॅलजी में रची-बसी उच्च शिक्षित महिलाएं हैं जिन्हें शादी और परिवार की...
 ‘हमारी सामाजिक व्यवस्था पुरुषों ने पुरुषों के लिए बनाई है, यहां समानता की बात झूठी है। सेना ने मेडिकल के लिए जो नियम बनाये हैं, वो महिलाओं के खिलाफ भेदभाव करते हैं। महिलाओं को बराबर अवसर दिए बिना रास्ता नहीं निकल सकता।’ 25 मार्च को यह कड़ी टिप्पणी सुप्रीम अदाल...
फिल्म ‘आवर्तन’ गुरु-शिष्य परंपरा बनी है जिसमें गुरु-शिष्य के बीच कई पीढ़ियों से चले आ रहे संबंधों को लेकर बनाया गया है। फिल्म की कहानी और निर्देशन दुर्बा सहाय का है। फिल्म में मुख्य भूमिका मशहूर कथक नृत्यांगना शोवना नारायण ने की है। हाल ही में फिल्म ‘आवर्तन’ आईएफएफआ...
पांच दशकों से अपने लेखन से पाठकों का दिल जीतने वाली कथाकार-उपन्यासकार-व्यंग्यकार वरिष्ठ साहित्यकार सूर्यबाला को हाल ही में भारत भारती सम्मान से नवाजा गया है। भारत भारती उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान का सबसे बड़ा पुरस्कार है। उत्तर प्रदेश के वाराणसी में जन्मीं सूर्यबाल...
सुमधुर भाषिणी, स्त्री चेता कवयित्री अनामिका को उनकी रचना ‘टोकरी में दिगंतः थेरी गाथा 2014 को हिंदी का साहित्य अकादमी पुरस्कार मिला है। साहित्कार अनामिका का हिंदी जगत में अपना एक मुकाम है। थेरी गाथाएं स्त्री अभिव्यक्ति का प्रारंभिक रूप है। उनके मन की वृत्तियां और शं...
नेतृत्वकर्ता के रूप में महिलाओं देखा जाना आज भी संदेह के दायरे में ज्यादा आता है, उन्हें शंका की निगाह से देखा जाता है, नापा-तौला जाता है, कही कहीं नकारा भी जाता है। फिर भी आज बहुत से क्षेत्रों में महिलाएं अपने कुशल नेतृत्व से टिकी हुईं है और दूसरी महिलाओं और लड़किय...
तो तुम लेखक बनना चाहते हो- चार्ल्स बुकोवस्कीअगर फूट के ना निकलेबिना किसी वजह केमत लिखो.अगर बिना पूछे-बताये ना बरस पड़ेतुम्हारे दिल और दिमाग़और जुबां और पेट सेमत लिखो.अगर घंटों बैठना पड़ेअपने कम्प्यूटर को ताकतेया टाइपराइटर पर बोझ बने हुएखोजते कमीने शब्दों कोमत लिखो.अगर...
महिलाओं के दम पर दिल्ली में सरकार बनाने वाली आम आदमी पार्टी ने उस समय तमाम महिला वोटरों का निराश कर दिया, जब नवगठित कैबिनेट में एक भी महिला को जगह नहीं दी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने तीसरे कार्यकाल में अपनी पुरानी कैबिनेट को दोहरा दिया। इसे लेकर आम लोगों म...