ब्लॉगसेतु

सांस्कृतिक जागरण का शंखनाद है दाऊ जी का 'चंदैनी गोंदा’: सुशील भोलेदाऊ रामचंद्र देशमुख जी के हाथों मयारू माटी का विमोचन(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); सुशील भोले साहित्यकारछत्तीसगढ़ की मूल संस्कृति और छत्तीसगढ़ी अस्मिता पर बेबाकी से कलम चलाते हुए व...
श्री महाप्रभुजी प्राकट्रय बैठकजी मंदिर चंपारण: यात्रा वृतांत (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); श्री वल्लभाचार्य जी भक्तिकालीन सगुणधारा की कृष्णभक्ति शाखा के प्रतिष्ठाता, शुद्धाद्वैत दार्शनिक सिद्धांत के समर्थक प्रचारक और भगवत-अनुग्रह प्रधान एव...
हनुमान जी की विशालकाय मूर्ति: महानदी, टीलायात्रा वृतांत:(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); छत्तीसगढ़ की जीवनदायिनी महानदी के तट पर उद्गम से लेकर महासागर में विलय तक अनेकों धार्मिक स्थल देखने को मिलता है। नदी की प्रवाह के साथ ही आस्था का सैलाब उमड़ता...
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); रायपुर.ए। छत्तीसगढ़ प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरूवा, घुरवा, बारी वाकई विकास की नई इबारत लिखेगी। छत्तीसगढ़ गांवों का प्रदेश है यहां की अधिकांश आबादी गांव में बसी है तो जाहिर है ग्राम्य जीवन शैली में...
यात्रा वृतांत : कचना धुरवा मंदिरछत्तीसगढ़ का गरियाबंद जिला अपनी प्राकृतिक सौंदर्य और धार्मिक स्थलों के अलावा कई ऐतिहासिक किवदंतियों की साक्षी है। गरियाबंद जिला मुख्यालय से 14 किलोमीटर दूर राजिम रोड पर एक गांव है बारूका। यह ग्राम राजधानी रायपुर से राजिम-गरियाबं...
नवरात्रि की प्रथम रविवार को जात्रा में आते है सैकड़ों श्रद्धालुनिरई माता के दरबार में नहीं जाती है महिलाएंनिरई ग्राम की दुर्गम पहाड़ी में बसी है माता निरई(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); छत्...
लोकपर्व कमरछठ विशेष-:संतान प्राप्ति व उनके दीर्घायु की कामना का व्रत कमरछठ : जयंत साहू(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); छत्तीसगढ़ में माताएं अपने संतानों की दीर्घायु तथा सुखमय जीवन की कामना के लिए कठिन व्रत रखती है जिसे कमरछठ कहा जाता है। इसे कमरछठ...
छत्तीसगढ़ सरकार की अटल जी को श्रद्धांजलि पुष्प- नया रायपुर का नामकरण अटल नगरसभी जिला मुख्यालयों में लगेगी अटल जी की प्रतिमाअटल जी नाम पर सेंट्रल पार्कराष्ट्रीय स्तर के कवियों के लिए अटल जी के नाम पर राष्ट्रीय पुरस्कार की स्थापनाबिलासपुर विश्वविद्यालय और राजनां...
भारतीय सिनेमा के इतिहास में स्वर्णिम अक्षरों में अपना नाम दर्ज कराने वाले महान फिल्मकार किशोर साहू का जन्म छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव में हुआ था बस इतना ही परिचय काफी है। उनका जन्म 22 नवंबर 1915 को हुआ था और वे 22 अगस्त 1980 को हम सब को छोड़कर इस दुनिया से चले गये। किश...
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); छत्तीसगढ़ के इतिहास में ऐसा पहली बार होने जा रहा है जब कोई प्रधानमंत्री अपने प्रथम कार्यक्राल में चौथी बार पहुंच रहे है। बीजापुर जिले के गांव जांगला के प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी की यात्रा के दौरान होने वाले स...
 पोस्ट लेवल : प्रधानमंत्री