ब्लॉगसेतु

सीखो के गाव के बच्चो को माँ बोली गुरुमुखी पढनी लिखनी तक नहीं आती .. स्कूल में पंजाबी भाषा का सब्जेक्ट व टीचर नहीं और गुरुद्वारे में भी पंजाबी नहीं सिखाई जाती .. ..सरकार के साथ साथ दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबन्धक कमेटी व्  पंजाबी एकेडमी से भी कर रहे है अरदास .....
दिल्ली के संबसे महेंगे नरेला लामपुर अंडरपास की पोल पूरा बनने से पहले ही खुली..अनिल अत्री  .एंकर - दिल्ली के संबसे महेंगे नरेला लामपुर अंडरपास की पोल पूरा बनने से पहले ही खुली .. इलाके में रेलवे फाटक के कारण भारी जाम रहता था और जब अंडरपास की बात आई तो सभी लोग...
दिल्ली में भूमिगत पानी का गिरता जल स्तर ..बचाने में जुटे कुछ लोग .............  अनिल अत्री दिल्ली ..एंकर - देश की राजधानी कंक्रीट में तबदील  हो गई ... बारीस का पानी जमीन में नहीं जा पा रहा है ..जब भी बारीस होती है पानी बहकर बेकार चला जाता है या सुख जाता ह...
अन्नानास का नाम लेते ही मुंह में पानी आ जाता है.अपने रसीले और अनूठे स्वाद के अलावा यह अनूठा फल पोषक तत्वों का भण्डार भी है. हम इसे बहुरुपिया और मुकुटधारी भी कह सकते हैं. दरअसल फल बनने से बाजार में बिक्री के लिए आने तक यह लगातार रंग बदलता रहता है और क्रमशः लाल,वैगनी...
विश्व कप फ़ुटबाल का जुनून देश भर में साफ़ नज़र आ रहा है  तो फिर सुदूर पूर्वोत्तर में असम इससे अछूता कैसे रह सकता है. फ़ुटबाल का खुमार पूरे असम में समान रूप से छाया हुआ है. यहाँ बच्चों से लेकर बड़े तक फ़ुटबाल के रंग में रंग गए हैं. असल बात यह है कि लड़कियां भी इस मामल...
#‪#‎AapkaPrakashकिसी मित्र ने सुझाव नहीं दिया हैमैंने स्‍वंय अपन आप बदल दिया हैप्रकाश पुस्‍तकों का हैप्रकाश विचारों का हैप्रकाश रचनात्‍मकता का हैप्रकाश समूह का हैसब अच्‍छाइयों का प्रकाश हैसमझ लीजिए आकाश हैअाकाश आपका अपना हैमैं तो निमित्‍त मात्र हूंमिट्टी का पात्र ह...
टच की तकनीक का वर्चस्‍व है। बजट जारी नहीं किया जाता। मंत्री महोदय पीएम महोदय का आदेश पाकर सिर्फ टच करते हैं और बजट जारी हो जाता है। बजट के रिलीज होते ही मंत्री महोदय को तो फारिग हो गए जैसा अहसास होता है जबकि पब्‍लिक जो अभी तक तनाव रहित थी, एकदम से तनाव में आ जाती ह...
मुखोटे, नकाब, जोकर का चेहरा और पुतले एक ही जाति, धर्म इत्‍यादि के अंर्तसंबंधों को जाहिर करते हैं। इनका लुत्फ नए-नए फिल्मी प्रयोग और टीवी चैनल के धारावाहिकों में रोजाना प्रसारित हो रहा है। इन सबको अलग नाम देने के क्‍या कारण रहे होंगे। मुखोटे मुख को ओट कर भी खोटे साब...
 पोस्ट लेवल : facebook Avinash Vachaspati
Aapka Prakash#‪#‎AapkaPrakashकिसी मित्र ने सुझाव नहीं दिया हैमैंने स्‍वंय अपन आप बदल दिया हैप्रकाश पुस्‍तकों का हैप्रकाश विचारों का हैप्रकाश रचनात्‍मकता का हैप्रकाश समूह का हैसब अच्‍छाइयों का प्रकाश हैसमझ लीजिए आकाश हैअाकाश आपका अपना हैमैं तो निमित्‍त मात्र हूंमिट्...