ब्लॉगसेतु

एक रचना ब्रम्हानंद सहोदर*रसानंद नव गीत मनोह&#2352...
 पोस्ट लेवल : नवगीत navgeet
II श्री महालक्ष्यमष्टक स्तोत्र II मूल पाठ-तद्रि&#...
सुबह उठने के साथकरने लगती हूं तैयारीघर छोडने कीहाथ मुंह धुलते धुलतेवही उतार कर रख देते हूंमन की थकनजो नही मिटी सो कर भीबैग पैक करते करतेपैक कर देती हूंरात बीती सारी बातेंतकिये के नीचे धीरे सेधर देते हूं सारी चिन्तायें ये कह करशाम को फिर मिलूंगी तुमसेतब तक तुम ठोडा...
 पोस्ट लेवल : challenges working mother
http://www.who.int/campaigns/no-tobacco-day/2018/event/en/आज विश्व तम्बाखू निरोध दिवस है। विश्व में विभिन्न स्थानों पर तम्बाखू के कुप्रभाव दर्शाते हुए इसके उपयोग से दूर रहने के लिए सेमिनार, पोस्टर, चर्चा-प्रचार गोष्ठियों आदि का आयोजन हुआ। धूमपान व गुटखा, गुंडी, जर्...
परम पूज्‍य पिता स्‍व; डॉ. दिनेश चन्‍द्र वाचस्‍पतिपिता प्रथम कुलपति हैं, बतलाने वाले कादम्बिनी मासिक पत्रिका के प्रधान संपादक शशि शेखर का यह कथन एकदम सच है। जो मां को बच्‍चे की पहली शिक्षक मानने वाले पिता को प्रथम कुल‍पति मानकर एक अनूठा निचोड़ पेश करते हैं। पित...
शील से कोई सरोकार नहीं पुलिस का पुलिस चाहे दिल्‍ली की हो मुंबई की चैन्‍ने की कोलकाटा की पुणे की आंध्र प्रदेश कीया किसी भी शहर कीअथवा गांव की क्रूर ही होती है हीनता ने उसके डेरे संभाल लिए हैं संवेदना तो होती है पुलिस में पर हीनता से जुड़ती है वह शील और हीन से क्‍या...
##अप्रियसत्‍यसत्‍य मैं लिखता रहामित्र मजाक समझते रहेपीड़ा में घुलता रहाव्‍यंग्‍य का कीड़ा समझते रहे।सच्‍चाई पसंद नहीं आती हैअप्रिय लगती हैलगता है झूठ लिख रहा हूंसच न जाने क्‍योंसबको झूठ लगता है।लगता है सबकोकि ऐसा हो नहीं सकताइतना बुरा एक लेखक के साथउसके परिवार जन क...
29 दिसम्‍बर 1929 को जन्‍मे मेरे पिताश्री डॉ. दिनेश चन्‍द्र वाचस्‍पति जी का जन्‍म हुआ था। 6 मई 1970 को उनका साया मेरे से उठ गया। वह विद्धान हिंदी लेखक, शिक्षाविद अौर सैन्‍ट्रल बोर्ड ऑफ हॉयर एजूकेशन तथा हिन्‍दी विद्यापीठ के संस्‍थापक एवं कुलपति थे। एक स्‍कूटर दुर्घटन...
पितृ दिवस पर- पिता सूर्य सम प्रकाशक :संजीव * पिता सूर्य सम प्रकाशक, जगा कहें कर कर्म कर्म-धर्म से महत्तम, अन्य न कोई मर्म  *गृहस्वामी मार्तण्ड हैं, पिता जानिए सत्य सुखकर्ता भर्ता पिता, रवि श्रीमान अनित्य *भास्कर-शशि...
 पोस्ट लेवल : mata doha pita achayra sanjiv verma 'salil'