ब्लॉगसेतु

सुबह सवेरे रामबीर के फोन की घंटी बज उठी । उनींदी आँखों से उसने मोबाइल फोन को ग्रीन सिग्नल दिया ... सामने प्रेम था - हैल्लो हैल्लो, हाँ बोलो इतनी सुबह फोन ?प्रेम हँसते हुए - सुबह कहाँ भाई दस बज रहे हैं ।ओह ... यार बाहर सर्दी बहुत है । इसीलिए अभी तक सो रहा था ... खैर...
प्रेमचंद कहते हैं कि साहित्य समाज का दर्पण है किन्तु फिल्म निर्माता और निर्देशक अनुराग कश्यप का कहना है कि सिनेमा भी समाज का दर्पण है। साहित्य के प्रथम पुरोधा भारतीय संस्कृति के अनुसार माना जाए तो वेद व्यास जी को माना जाता है और वही स्थान भारतीय सिनेमा की दृष्टि मे...
किताब - विज्ञप्ति भर बारिशविधा- कविता संग्रहप्रकाशक - सूर्य प्रकाशन मंदिर, बीकानेरलेखक - ओम नागरसमीक्षक - तेजस पूनियाहिंदी साहित्य आदिकाल से लेकर आज तक के दो हजार वर्ष से भी अधिक का एक दीर्घकालिक समयांतराल पार कर चुका है। इस दौरान इसमें कई आंदोलन हुए, कई विचारधाराओ...
किसी भी कहानी को लिखने के लिए लेखक के पास सबसे अहम चीज जो होनी चाहिए ; वह है उसके पात्र। बिना कहानी के पात्रों के आप या हम किसी भी कहानी की सर्जना नहीं कर सकते। हालांकि साहित्यिक कैटेगरी के अनुसार उसमें छ: तत्व होने जरूरी होते हैं, किन्तु जब उस कहानी को आप फिल्मा र...
निर्देशक – अभिषेक वर्मन निर्माता – करण जौहर, साजिद नाडियाडवाला, अपूर्व मेहता स्टारिंग – माधुरी दीक्षित, संजय दत्त, सोनाक्षी सिन्हा, वरुण धवन, आलिया भट्ट, आदित्य रॉय कपूर, कुनाल खेमू, कृति सेनन, कियारा आडवाणी फिल्म की कहानी  से पर्दा तो लगभग इसकी रिलीज से...
निर्देशक – अभिषेक वर्मन निर्माता – करण जौहर, साजिद नाडियाडवाला, अपूर्व मेहता स्टारिंग – माधुरी दीक्षित, संजय दत्त, सोनाक्षी सिन्हा, वरुण धवन, आलिया भट्ट, आदित्य रॉय कपूर, कुनाल खेमू, कृति सेनन, कियारा आडवाणीफिल्म की कहानी  से पर्दा तो लगभग इसकी रिलीज से उठ ही...
किताब - किन्नर समाज संदर्भ ‘तीसरी ताली’लेखिका - पार्वती कुमारी (JNU)प्रकाशक - वाणी प्रकाशन समीक्षक - तेजस पूनिया प्रिंट मूल्य - 595/-यह पृथ्वी अनेक विचित्रताओं से युक्त है। और उतना ही विचित्र और रहस्यों से युक्त हैं यह ब्रह्मांड, उसके चराचर जीव जगत। मनुष्य का जब से...
फ़िल्म - राम जन्मभूमि निर्माता/निर्देशक - वसीम रिजवी, सनोज मिश्रालेखक- वसीम रिजवीकलाकार - मनोज जोशी, गोविंद नामदेव, राजवीर सिंह, तृषा सचदेवा और आदित्य हमारे देश में एक से बढ़कर एक विवाद हुए हैं। कई विवादों ने तो इस देश को वैश्विक धरातल पर शर्मसार भी किया है। ऐसा ही ए...
निर्देशक – रजनीश बाबा मेहता कलाकार - दीपराज राणा , विनोद तारण , आद्या शर्मा , राहुल राजपूतक्या हो जब कोई आपको धर्म के नाम पर कत्ल कर दे? क्या हो जब कोई धर्म के नाम पर आपकी बीवी, बहन, बेटी का बलात्कार कर दे? और क्या हो जब आप खुद उन बहन, बेटियों को उन दरिंदों से बचान...
कई दफ़ा प्रकाशित एवं राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय सेमिनारों में पढ़ा गया मेरा यह लेख एम ए , एम फिल एवं पीएचडी में शोध संदर्भ के रूप में भी स्थान हासिल कर चुका है। हाल ही में दिवंगत हुई विख्यात लेखिका रमणिका गुप्ता के साथ यह लेख पुन: किताब में प्रकाशित हुआ है। ज्यों क...