ब्लॉगसेतु

निर्देशक – करण अंशुमन , गुरमीत सिंह , मिहिर देसाई स्टार कास्ट – पंकज त्रिपाठी , शीबा चड्ढा , रसिका दुग्गल ,  अली फज़ल , कुलभूषण खरबंदा , विक्रांत मस्सी , श्रेया पिलगांवकर , दिव्येंदु शर्मा , राजेश तैलंग , अमित सियाल , आकाशदीप अरोड़ा निर्माता – फरहान खान , करण अं...
कसाई यूँ तो हिंदी फिल्म है किन्तु राजस्थानी निर्देशक और लेखक होने के नाते शीर्षक रखा गया है - राजस्थानी सिनेमा को मान दिलाएगी  “कसाई” कहते हैं  फिल्म के निर्देशक गजेन्द्र श्रोत्रिय । तो जी चलिए शुरू करते हैं हिन्दुस्तान में बॉलीवुड का क्रेज...
फिल्म : पीहूडायरेक्टर : विनोद कापड़ीस्टार कास्ट : मायरा विश्वकर्मा (पीहू)सत्य घटनाओं पर आधारित कई फ़िल्में हमारे यहाँ बनी हैं । मगर इस हफ्ते रिलीज हुई फिल्म पीहू अब तक की सभी सत्य घटनाओं पर बनी फिल्मों में बेहतरीन है । फिल्म की कहानी देश की राजधानी से निकली है ।कुछ स...
8 नवम्बर का दिन भारतीय राजनीति और भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए जितना खास है उतना ही भारतीय सिनेमा के लिए भी खास हो गया है। आमिर और अमिताभ बच्चन का एक साथ बड़े पर्दे पर आना खास ही है। ठग्‍स ऑफ हिंदुस्तान जितनी जानदार होनी चाहिए थी उतनी अपनी अपेक्षाओं पर खरी नहीं उ...
पटाखा फिल्म रिलीज होते ही देख डाली थी । साहित्य का छात्र होने के नाते भी और सिनेमा में विशेष रूचि के चलते । लेकिन उस फिल्म की समीक्षा बीमार होने के चलते तथा कुछ अन्य कारणों से नहीं कर पाया था । उनमें एक कारण यह भी था कि “दो बहनें” कहानी जब तक पढ़ने को न मिले तब तक न...
भारत पाकिस्तान का नाम एक साथ आते ही हर हिंदुस्तानी या पाकिस्तानी के कान ही खड़े नहीं होते बल्कि दोनों और के दिलों में एक चिंगारी भड़क उठती है जनाब। लेकिन इन दोनों दुश्मन मुल्कों के बीच बहुत बार ऐसे लोग आए हैं जिन्होंने प्यार, सद्भावना और शांति की पहल करके मिसाल कायम...
निर्देशक – चन्द्र प्रकाश द्विवेदी कलाकार – सन्नी देयोल, साक्षी तंवर, रवि किशन, सौरभ शुक्ला, मुकेश तिवारी, राजेन्द्र गुप्ता, मिथिलेश चतुर्वेदी आदि आठ साल से अधर में लटकी काशीनाथ सिंह के उपन्यास पर आधारित यह फिल्म इंटरनेट पर लीक हो चुकी थी जिसे मैंने भी देखा था...
देहिनोsसिमन्यथा देहे कौमारं यौवनं जरा ।तथा देहान्तर प्राप्तिधीर्रस्तत्र न मुह्यति । ।देहधारी इस मनुष्य शरीर में जैसे बालकपन, जवानी और वृद्धावस्था होती है , ऐसे ही देहान्तर की प्राप्ति होती है । उस विषय में धीर मनुष्य मोहित नहीं होता । गीता का यह श्लोक तो आप सभी ने...
कर्ज चढाती है ऐसी फ़िल्मेंबाप ही एक ऐसी सम्पत्ति होता है । जिसे बेटा पूरी तरह दूसरे भाईयों को देने के लिए तैयार रहता है ।बुढ़ापा तो उसी दिन शुरू हो जता है । जब हम जाने अनजाने उसके खिलाफ लड़ाई शुरू कर देते हैं । पिता जी के सिर्फ हाथ और पाँव हमारे हिस्से आते तो और बात थ...
निर्देशक – अमित रविन्द्रनाथ शर्मा  कलाकार- आयुष्मान खुराना, सान्या मल्होत्रा, नीना गुप्ता, शीबा चड्ढा, सुरेखा सिकरी हमारे भारतीय समाज में कई सारे टैबू हैं । उनमें से एक सबसे बड़ा टैबू तो शादी को लेकर है और फिर उसके बाद साल दो साल के भीतर अपने आप को समाज के सामन...