ब्लॉगसेतु

" होंगे सपने पूरे "कृषक जैसा संघर्ष जो करता,मेहनत का मैदान नहीं छोड़ता | जब तक सफल वह हो न जाए, नींद - चैन को त्यागता जाए | ये रास्ता जिस ओर को मुड़ता, हमेशा सफलता उधर ही चलता | कामयाबी की सोच हरियाली लाती, मेघा जैसी खुशियाँ छा जाती | देख भूमि पर झूमती हरियाली को, जम...
मुहावरे ढूँढो :चेहरे की हवाइयाँ उड़ गईं, देख लिया जब शेर ,भीगी बिल्ली बना बहादुर , भागा लाई न देर |पास हुआ तो फूला नहीं , समाया पप्पू राम |घर बसाकर समझ आ गया , आटे डाल का दाम |घूँट लहू का पीकर रह गई , जब देखा अपमान ,सीता ने गीता के विरोध मे , भरे राम के कान |पढ़लिख...
" बन तू महान "सपनों को चुनना फिर उसे पूरा करना,हर किसी के बस में नहीं होता | अच्छे से पढाई करने का प्रण लेना,फिर अच्छे से पढाई कर पाना | हर किसी के बस में नहीं होता,हर किसी इ बस में होता है बस | अपने सपनों को मार देना,पढाई करने के नाम पर दिखावा करना | अरे मेरे भाई...
आओ बच्चो , तुम्हें बताऊँ , एक अनोखी बात |एक अनोखे जीव ने दे दी , सारे जाग को मात |एक कोरोना ने फैलाया ऐसा अपना जाल |पूरी दुनिया पर मन्डराने ,लग गया  जैसे काल | न देखे ये ऊँच - नीच , और न ही देश-विदेश |दिखे नहीं , पर कर जाता है , ह...
"आशा है मुझे बारिश होगी "आशा है मुझे बारिस होगी ,आशा है मुझे कुछ नया होगी | देखने में लगता कुछ खास ,काश  बादल रुक जाये | मेरे आसपास और ,हो जाये यहाँ पे बरसात | बारिश के बुँदे को को देखू ,  बारिश को महसूस करू|  उछल कूदकर मैं खूब नह...
"चिड़िया "ये चिड़िया की थोड़ी सी  जान ,उड़ने के लिए थी परेशान | मन है इसका जाने का आकाश ,पर खुद पे नहीं पूरा था विश्वास | हर काम में मिलती नाकामी ,कयोंकि वो थी पुरानी |                     &nbsp...
प्यारे बच्चो , आज एक दस वर्षीय नन्ही बच्ची अनमोल का बनाया यह चित्र देखा तो स्वयं को रोक नहीं पाई और आपको भी दिखाने लाई हूँ । ध्यान से देखिए और जल्दी से अपने मन में उठे भावों को हमें लिख भेजिए    nanhaman@gmail.com   पर |
"डर" दुनियाँ से परे लोगों से डरे,रहता हूँ मैं पैरों पे खड़े | डर कर जीना मैंने तो सीखा,पर वही था सबसे बुरा तरीका |   लोग कहते है की खुल कर जीना चाहिए,पर कोई नहीं बताता  कब जीना चाहिए | जो डरके जी रहे हैं,वो लोग नहीं बुरे...
शीर्षक =    दुनिया से परे दुनिया से परे ,लोगो से डरे|  रहता हूँ मै ,पैरों पे खड़े | डर  कर जीना  है ना ,मैंने तो सीखा |  पर वही हमें ,लग रही था  तीखा | लोग कहते है की ,खुलकर जीना चाहिए | पर कोई ये नहीं बतात...