ब्लॉगसेतु

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,प्रणाम !आज ३१ मई है ... हर साल आज ही के दिन विश्व तंबाकू निषेध दिवस मनाया जाता है ... इस अवसर कर पेश है एक कविता जो मैंने कभी ऑर्कुट पर पढ़ी थी !धूम्रपानएक कार्य महानसिगरेटहै संजीवनीपीकरस्वास्थ्य बनाओसमयसे पहले बूढ़े होकररियायतोंका लाभ उठाओसिगरे...
आदरणीय मित्रों,सादर प्रणामआज के बुलेटिन में जीवन के कुछ सत्य अनुभव बतला रहा हूँ |  कहने को तो बातें और अनुभव पुराने हैं कहे सुने हैं परन्तु जीवन की आपा-धापी में हम इन्हें भुलाये बैठे हैं | मेरी कोशिश यही है के यदि हो सके तो इन्हें फिर से एक बार याद किया जाये औ...
आदरणीय मित्रों,सादर प्रणाम,आज की बुलेटिन आईपीएल के नाम मेरी कविता के माध्यम सेहल्ला बोल हल्ला बोलआईपीएल की खुल गई पोलअन्दर खाने कित्त्ते हैं झोलहो रही सबकी सिट्टी गोलये मैच नहीं ये फिक्सिंग हैलगता मुझको तो मिक्सिंग हैबीमारी है अड़ियल अमीरों कीये नसल है घटिया ज़मीरो...
प्रिय ब्लॉगर मित्रों ,प्रणाम !छत्तीसगढ़ में शनिवार को कांग्रेस पार्टी के काफिले पर हुये नक्सली हमले की खबरों मे बड़े बड़े नेताओ के मारे जाने ... घायल होने ... सुरक्षा मे हुई चूक ... केंद्र और राज्य सरकारों के बीच के मतभेद ... आगे की प्लानिंग जैसी खबरों के बीच एक बहुत...
आदरणीय मित्रों,सादर प्रणाम,समयाभाव के कारण आज की पोस्ट को आनन् फ़ानन का नाम दिया है | दरअसल तबियत कुछ ठीक नहीं है | कमर में बहुत तेज़ दर्द है | इसलिए आज की पोस्ट को फ़ास्ट ट्रैक बना कर जल्दी से केस ख़ारिज कर दिया जा रहा है |  आभारआज के बुलेटिन कड़ियाँ---------...
आज़ादी के पैसठ सालों के बाद भी यह सब समस्याएं? आज भी हमारे देश में यह अलगाववादी क्यों हैं? सरकार की आंतरिक आतंकवाद से लडनें की कोई नीति क्यों नहीं है...  (तस्वीर गूगल से साभार)आईए जानते हैं आखिर नक्सलवाद है क्या?नक्सलवाद भारतीय कम्युनिस्टों के सशस्त्र आंदोलन क...
आदरणीय मित्रों,सादर प्रणाम,एक नई कविता आपके सम्मुख प्रस्तुत कर रहा हूँ | आशा  करता हूँ आपकी सराहना प्राप्त होगी |ऐ वादियोंमैं तुम से पूछता हूँझरनों में भी देखता हूँये नयन न जानेकिसे खोजते हैंकिसकी सज़ा हैये किसकी सज़ा हैप्रभाकर जब आएगाचमक उठेगा मनडोल उठेगी आत्...
प्रिय ब्लॉगर मित्रों ,प्रणाम !अरुणिमा सिन्हा ... यह नाम याद है आपको ... शायद नहीं होगा ... पर आज जो मैं आपको बताने जा रहा हूँ उसके बाद यह नाम आप कभी नहीं भूलेंगे !माहिर वॉलीबॉल खिलाड़ी अरुणिमा सिन्हा की ज़िन्दगी तब बिलकुल अंधेरे मे डूब गई जब 12 अप्रैल 2011 को ...
प्रिय ब्लॉगर मित्रों ,प्रणाम !आज का ज्ञान: अगर कोई हमें अच्छा लगता है - तो अच्छा वो नहीं हम हैं। और अगर कोई हमें बुरा लगता है - तो बुरा वही है क्योंकि हम तो अच्छे ही हैं न !!!सादर आपका शिवम मिश्रा ========================= 15वीं राष्‍ट्रीय जनगणना वर...
प्रिय ब्लॉगर मित्रों,प्रणाम !मई का महीना चल रहा है। अभी जून ने दस्तक दी भी नहीं और सूरज की तपिश,जलती लू ने लोगों का जीना बेहाल कर दिया है। जिस तरह से पारा बढ़ता जा रहा है और धूप सिर चढ़कर बोल रही है, ऐसे में हीट स्ट्रोक का शिकार होना बिल्कुल स्वाभाविक है। आप गर्...