ब्लॉगसेतु

सादर अभिनन्दनकल का दिन थका देने वाला थाफिर भी नींद सही आईचलिए चले रचनाओँ की ओर..लोग बोले है बुरा लगता है ...जो अच्छी लगती, बुरा नहीं लगतारूह से जा लगती, बुरा नहीं लगताक्यों न हो तुझ में कोई खामीमुझी से हो पुरी बुरा नहीं लगतावहशत ना होती बाल नोचने तकहिज़्र नहीं होती&...
 पोस्ट लेवल : 148
सादर अभिनन्दन..तथा करक चतुर्थी की शुभकामनाएँ..आज पहली बार देवी जी उपवास कर रही हैसुबह उठने से पहले ही पानी पी लियाउसके बाद उन्हें पानी नहीं पीना हैइस बार का करवाचौथ बेहद खास, 70 साल बाद बन रहा शुभ संयोगऐ चांद तुम जल्दी से आ जाना...ऐ चांद तुम जल्दी से आ जानाभूख...
 पोस्ट लेवल : 147
सादर अभिवादनअक्टूबर जाने को है तत्परजाने दो हमें क्यालाया तो कुछ नहींपर जेबें ढीली कर के जा रहा हैहोने दो हमें क्याचलिए रचनाओँ की ओर..चलनी में चाँद.... साधना वैदकरवा चौथ की सभी बहनों को हार्दिक शुभकामनायें एवं बधाई ! कल करवा चौथ का त्यौहार है ! उत्तर भारत में...
 पोस्ट लेवल : 146
सांध्य मुखरित मौन में आप सभी कासादर अभिवादन-----------15 अक्टूबर 1931आज डॉ.कलाम का जन्मदिन है।ए पी जे अब्दुल कलाम के विचार युवाओं के लिए बहुत ही प्रेरक हैं। अब्दुल कलाम आजाद भारत के 11 वें राष्ट्रपति थे इसके साथ ही साथ वो एक महान वैज्ञानिक भी थे जिन्हें “मिसाइल मैन...
 पोस्ट लेवल : 145
स्नेहिल अभिवादनआज तो लोग लिखे ही नहीं कुछचलिए आज एक ही ब्लॉग से रचनाएँ लाते हैंआज का ब्लॉग हैक्षितिजजाना पहचानाब्लॉगर हैं रेणुबालालिख दो कुछ शब्द -कोरे कागज पर उतर कर .ये अमर हो जायेंगे ;जब भी छन्दो में ढलेंगे ,गीत मधुर हो जायेंगे ;ना भूलूँ जिन्हें उम्र भरबन प्रीत...
 पोस्ट लेवल : 144
सादर अभिवादन..शरद पूर्णिमा कल है...पर आज महानायक का जन्मदिन हैआज वे 77 वाँ जन्मदिन मना रहे हैंपहले उनकी फिल्म का एक गीत सुनते हैंअमिताभ बच्चन..जी हाँ ...वही जो कुली फिल्म मे चोटिल हुए थेसादर अभिनन्दन व शुभकामनाएँचलें रचनाओँ ओर..एक कवि, जब मर जाता है ....चरणबद्ध तरी...
 पोस्ट लेवल : 142
आज शरद पूर्णिमा है..पूरे सोलह कलाओं के साथ..अमृत वर्षा करेंगे चन्द्रदेव..आधी रात तक गरबा खेला जाएगाआँख-मिचौली भी खेली जा सकती हैहमारे पास बातें फालतू नहीं हैचलिए लिंक की ओर...शरद पूर्णिमा ...क्या क़यामत ढा रही, है शरद की पूर्णिमा।गीत उजले गा रही, है शरद की पूर्णिमा।...
 पोस्ट लेवल : 143
सादर अभिवादन। सांध्य दैनिक मुखरित मौन की प्रस्तुति में आपका स्वागत है। आइये अब आपको आज की पसंदीदा रचनाओं की ओर ले चलें-स्वप्न झरे फूल से...गोपालदास 'नीरज'चित्र साभार : गूगल एक दिन मगर यहाँ ऐसी कुछ हवा चलीलुट गई कली-कली कि घुट गई ग...
 पोस्ट लेवल : 141
सादर अभिवादनआज तो प्रश्न ही प्रश्नआप पूछेंगेक्यों....ये भी एक प्रश्न ही हैबच्चा चैन की नींद सो रहा थाउठा दिया तो उसने भी पूछ लियासोने देते...क्यों उठा दियाछुट्टियां है ..और होमवर्क भी करवा दिया हैफिर क्यूँ..ये तो चलता ही रहेगाचलिए लिंक की ओर..सृष्टि ....सृष्टि के स...
 पोस्ट लेवल : 140
सादर अभिवादनदशहरे के बाद वाला दिनआज भाई रवीन्द्र जी को आना थाकाम-धन्धे की तरफ निकल पड़े शायद..चलिए कोई बात नहीं...हम तो हैं..चलिए चलें...रावण की गुहार ...मैं रावण हूँ लेकिनतुमने मुझे रक्तबीज बना दिया हैहर वर्ष जलाते हो मुझेऔर मैं हर वर्ष फिर नया जन्म लेता हूँफिर से...
 पोस्ट लेवल : 139