ब्लॉगसेतु

सादर अभिवादन। सांध्य दैनिक मुखरित मौन की प्रस्तुति में आपका स्वागत है। आइये अब आपको आज की पसंदीदा रचनाओं की ओर ले चलें-स्वप्न झरे फूल से...गोपालदास 'नीरज'चित्र साभार : गूगल एक दिन मगर यहाँ ऐसी कुछ हवा चलीलुट गई कली-कली कि घुट गई ग...
 पोस्ट लेवल : 141
सादर अभिवादनआज तो प्रश्न ही प्रश्नआप पूछेंगेक्यों....ये भी एक प्रश्न ही हैबच्चा चैन की नींद सो रहा थाउठा दिया तो उसने भी पूछ लियासोने देते...क्यों उठा दियाछुट्टियां है ..और होमवर्क भी करवा दिया हैफिर क्यूँ..ये तो चलता ही रहेगाचलिए लिंक की ओर..सृष्टि ....सृष्टि के स...
 पोस्ट लेवल : 140
सादर अभिवादनदशहरे के बाद वाला दिनआज भाई रवीन्द्र जी को आना थाकाम-धन्धे की तरफ निकल पड़े शायद..चलिए कोई बात नहीं...हम तो हैं..चलिए चलें...रावण की गुहार ...मैं रावण हूँ लेकिनतुमने मुझे रक्तबीज बना दिया हैहर वर्ष जलाते हो मुझेऔर मैं हर वर्ष फिर नया जन्म लेता हूँफिर से...
 पोस्ट लेवल : 139
विजया दशमी की शुभ कामनाएँकुछ ही मिनट पश्चात रावण का पुतला भस्म हो जाएगापर इन्सानी रावण जीवित रहेगाअपनी उम्र पूरी होते तकआज की रचनाओँ का ओर चलें...पुतला नहीं प्रवृति का दहन ....मन का रावणआज भी खड़ा हैसर तान करअंगद के पाँव जैसा,सदियां बीत गईरावण जलातेपुतला भस्म...
 पोस्ट लेवल : 138
सादर अभिवादनआज मीना दी नहीं हैंयेन-केन-प्रकारेणब्लॉग तो चालू रहेगाआज की सभी रचनाएँबरसों से चर्चामंच में चर्चा कर रहेभाई दिलबाग जी के ब्लॉग से..चाँद ज़मीं पर उतारा क्यों नहीं ?सदियों से हैं हमसफ़र दोनों किनारे से मिले किनारा क्यों नहीं ?यूँ ही खींच ली बीच में दीव...
 पोस्ट लेवल : 137
सादर अभिवादनआज की ताजा खबरआज से हमारी चर्चाकाराश्रीमति मीना भारद्वाजइस ब्लॉग में नहीं दिखेंगीबहरहाल ब्लॉग तो चलेगा हीरुकने वाला नहीं...आज हमारे ब्लॉग में पहली बार आ रहे हैंअश्वनी कुमार जी.आगे पढ़िए....मेरी पहली रचना...वेसे तो मुझे प्यार की कमी नहीं है ,लेकिन एक तेर...
 पोस्ट लेवल : 136
सादर अभिवादन...छत्तीसगढ़ सरकार का भला होअभी तक चालान की प्रक्रिया शुरू नही हुईपर गाहे - बगाहे चालू होगी ही....चलिए चलें रचनाओं की ओर..जागो कवि...वो जो देश के लहु में बसता है,ज्ञान का सागर,वो जो हिन्द की पहचान है,हिन्दी की गागर,वो जो आत्म को परमात्म की शक्ति से मिला...
 पोस्ट लेवल : 135
सोच रहे थेकुछ ताजी रचनाएँ प्रस्तुत की जाएपर उथल-पुथल हुईमन उचट गयाअभिवादन स्वीकारें..आज पढ़िए एक ही ब्लॉग की रचनाएँब्लॉग मेरी भावनाएँ से मेरी पसंदीदा रचनाएँपहले रचनाकार का परिचय उन्हीं के शब्दों मेंमैं रश्मि प्रभाहमारे घर का, विशेषकर हमारी माँ का सबसे प्रिय खेल था&...
 पोस्ट लेवल : 134
स्नेहाभिवादन ! सभी रचनाकारों और पाठक वृन्द का हार्दिक अभिनंदन !आज की सांध्य दैनिक मुखरित मौन" की प्रस्तुति के चयनित सूत्र आपके सम्मुख प्रस्तुत हैं --प्रेमसिक्त धड़कन ....मुकेश कुमार सिन्हातेज धड़कनों का सचसमय के साथ बदल जाता हैकभी देखते हीया स्पर्श भर सेस्वमेव त...
 पोस्ट लेवल : 133
सांझ का स्नेहिल अभिववादन-----------राष्ट्र आज राष्ट्रपिता की150वीं जयंती है।व्यक्ति महान पैदा नहीं होता हैउसके विचार और कर्म की शुद्धताही उसे आम लोगों से अलग देखने पर मजबूर करती है।करोड़ों भारतवासियों के जीवन में बदलावलाने का आजीवन प्रयास करने वालेबापू को सादर प्रणा...
 पोस्ट लेवल : 132