ब्लॉगसेतु

सब कुछ संभव है भगवान की सृष्टि में, मॉर्डन टेक्नोलोजी भी भगवान की सृष्टि है, और भगवान की सृष्टि है भौतिक प्रकृति हवा, जल, पहाड़, भूमि हम सब भगवान की सृष्टि है। लेकिन वास्तव में यह टेक्नोलोजी भी भगवान की सृष्टि है, क्योंकि भगवान की प्रदत्त बुद्धि के द्वारा ये सब सृष्...
प्रथम श्रेणी जो दूसरों में केवल दोष देखते हैं, पढ़ने के लिये चटका लगाईये।     बुरा भी देखना अच्छा भी देखना, लेकिन जो बुरा मिल गया तो बिल्कुल इस तरह झपट पड़ना कि अब मिल गया मिल गया। जो ढूँढ़ रहा था वो मिल गया, और उसको झपट लेना और फ़िर उसको बहुत बड़ा देना,...
श्रीमद्भागवतम स्कन्ध ४ श्लोक १२दोषान परेशान हि गुणेषु साधवो गृहन्नति केचित न भवाद्रिशु द्विजगुणांस च फ़लगुन बहुलि परिष्णवो महत्तमास तेषु अविदत्त भवान अगम ।दोषान – दोष, परेशां – दूसरों के, हि – लिये, गुणेषु – गुण के अंदर, साधवा: - साधु, गृहन्नति – ढूँढ़ना, केचित – क...
"पूतना वध" भागवतम - दशम स्कन्ध, भाग छ:श्लोक नं ३५भागवतम दशम स्कन्ध, भाग छ:"पूतना लोग बालघ्नि राक्षसी रुधिरासनाजिघमसयपि हरये स्तनम दत्तवापा सबगति"तात्पर्य - कृष्ण कृपामूर्ति अभयचरणार्विन्द भक्तिवेदान्त स्वामी प्रभुपाद द्वारा पूतना सदैव बालकों के खून की प्यासी र...