ब्लॉगसेतु

Remember the glowing street lamps ?Down the old lane in the nights ..When we studied in our homesSurrounded by reassuring comforts..In breaks we looked out of our windowsTo feel the cool breeze in the trees,Admiring the flower like street lightsBeaming like...
 पोस्ट लेवल : Notes In English
विलक्षण है निस्संदेह आपकी बहुआयामी प्रतिभा ।किंतु क्या करें बताइए आपकी विद्वता का ?जिसके भार तले साधारण जन मनदबते चले जाते हैं ।धराशायी हो जाता है आत्मविश्वास इनका,तिनका-तिनका जोङाजो साहस जुटा कर ।लाभ क्या हुआ?यदि ज्ञान आपकाहमेशा आंखें त...
 पोस्ट लेवल : एक बात
उठो अब जागो !दरवाज़ा कोईखटखटा रहा,आतुर है तुम्हें बुलाने को,साथ ले जाने को ।बाहर निकलो ।देखो दुनिया की रौनक, चहल-पहल ।काम पर सब के सब निकल पङे हैं ।तुम क्यों हताश हो ?जीवन से क्यों निराश हो ?भागदौड़ आपाधापी से निरर्थक व्यस्तता से त्रस्त ह...
 पोस्ट लेवल : एक बात
शाम ढले देखा,सामने की छत पर पहने नारंगी जामाटहल रहा था सूरज,अब तक ढला न था ।असमंजस में था ।मन में सोच रहा थाआज अगर छत परसो जाऊं मैं चुपचाप ?देखूँ कैसे दिखते हैं तारे दूर गगन में झिलमिलाते ।कैसा लगता है चंद्रमा ?नभ के भाल पर चमकता ।और चांदनी...
 पोस्ट लेवल : एक बात
जन्मभूमि के लिए जो जिये और मरे,उनका अनुकरण कर पाएं हम ..साहस का उनके कर वरण,नित करें स्मरण और वंदन ।शहीदों और वीरों केबलिदान का हर क्षण,अमिट छाप छोङेयुवा मानस पर ।जो न्योछावर हुए देश की माटी पर,उन पर न्योछावर देश की धङकन ।श्वास...
 पोस्ट लेवल : एक बात
सब कुछ छिन जाने के बाद भी कुछ बचा रहता है ।सब समाप्त होने के बाद भी शेष रहता है जीवन, कहीं न कहीं ।सब कुछ हार जाने के बाद भी, बनी रहती है विजय की कामना ।फिर तुम्हें क्यों लगता है,कि तुममें कुछ नहीं बचा ?न कोई इच्छा,&n...
 पोस्ट लेवल : एक बात
इस मिथ्या जगत में एक सच्ची अनुभूति कीआस है मुझे, इसलिए हर करवट में दुनिया कीदिलचस्पी है मेरी ।इतने शानदार खेल-तमाशे चप्पे-चप्पे पर जिसने सजाए,वो जो हो हमारे-तुम्हारे लिए,नीरस तो नहीं होगा ।कुछ तो होगा ऐसा,जिसके लिए जी-जान लगा केमेंहदी की तरह...
 पोस्ट लेवल : एक बात
सुबह सुबह सांकल खटका के,चंचल हवा आ बैठी सिरहाने ।हाथों में थामे थी चरखी और पतंग, बातों से छलके थी बावली उमंग !बोली जल्दी चलो खुले मैदान में !सूरज भी आ डटा है आसमान में !झट से रख लो संग पानी की बोतल !मूंगफली,तिल के लड्डू,रेवङी,गजक !देखो टोलियाँ तैनात हैं आमने-स...
 पोस्ट लेवल : एक बात
टहनियों पे खिलते फूल ।पूजा की टोकरी में रखे फूल ।माला में पिरोए फूल ।चित्रों में सजीव फूल ।किताबों में संजोए फूल ।गुलदस्तों से झांकते फूल ।सेहरे की लङियों में फूल ।वेणी में गुंथे गजरे के फूल ।मन की टोह लेते फूल ।ख़ैरियत का पैग़ामलाते हैं फूल ।दुआओं भरा सलामपहुंचाते...
 पोस्ट लेवल : एक बात