ब्लॉगसेतु

चंबल नदी के किनारे बसा कोटा शहर अब देश भर में अपनी नई पहचान रखता है। कोटा कोचिंग हब बन चुका है। कभी यह शहर कोटा स्टोन के लिए जाना जाता था। रात को आठ बजे के आसपास कोटा बस स्टैंड पर उतरा हूं। यहां से शेयरिंग आटो से रेलवे स्टेशन पहुंच गया हूं। कोटा रेलवे स्टेशन का भवन...
 पोस्ट लेवल : RAJSTHAN RAIL
मेनाल के मंदिर दर्शन के बाद आधा किलोमीटर पैदल चलकर मैं भीलवाडा – कोटा हाईवे पर आ जाता हूं। यहां एक दो लाइन होटल हैं और जोगणिया माता मंदिर की तरफ जाने वाले रास्ते का प्रवेश द्वार है। बस अंधेरा होने ही वाला है। कुछ मिनट इंतजार के बाद कोटा की तरफ जाने वाली बस दिखाई दे...
 पोस्ट लेवल : RAJSTHAN
जोगणिया माता के दर्शन के बाद मैं आगे की यात्रा के लिए बस का इंतजार कर रहा हूं। पर दो घंटे इंतजार के बाद बस नहीं आई। यहां से हाईवे पर पहुंचने के दो रास्ते हैं 20 किलोमीटर दूर काटूंदा मोड़ या फिर 7 किलोमीटर दूर मेनाल। एक स्थानीय दुकानदार ने सलाह दी अब बस आने की उम्मी...
 पोस्ट लेवल : TEMPLE RAJSTHAN
राजस्थान के चित्तौड़गढ़ जिले के बेगूं कस्‍बे में जोगणिया माता का मंदिर है। इसके बारे में ऐसी ही मान्‍यता है कि लोग यहां हथकड़ीचढाते हैं। माना जाता है कि जो अपराधी पुलिस से पीछा छुडाना चाहते है वह यहां आकर यदि हथकड़ी चढ़ा देते हैं तो पुलिस औ...
 पोस्ट लेवल : TEMPLE RAJSTHAN
एक मध्यमवर्गीय भारतीय परिवार सुबह से शाम तक जिंदगी की भागदौड़ में संघर्ष करता हुआ जीता है। बच्चे को स्कूल भेजना, दफ्तर जाना, शापिंग करना, रेलवे स्टेशन बस स्टाप तक की भागदौड़। इस भागदौड़ में अगर उसके पास एक स्कूटर हो तो जिंदगी आसान बन जाती है। पर स्कूटर कौन सा हो। क...
 पोस्ट लेवल : KARNATKA TRAVEL TAMILNADU
चित्तौड़गढ़ की दाल बाटी खाने के बाद वापस आकर होटल नटराज से चेकआउट किया और बस स्टैंड आ गया।  मैंने पता किया था कि चित्तौड़ और कोटा के रास्ते में जोगणिया माता का प्रसिद्ध मंदिर है। स्थानीय लोगों ने बताया कि कोई बस सीधी जोगणिया माता नहीं जाती, पर आप काटूंदा मोड़...
 पोस्ट लेवल : RAJSTHAN
मायानगरी मुंबई के शिखर पर नए सितारे जड़ गए हैं। 30 जून 2018 को यूनेस्को ने मुंबई की तीसरे स्थल को विश्व विरासत की सूची में शामिल किया। मुंबई की विक्टोरियन गोथिक और आर्ट डेको इमारतों के भव्य क्लस्टर को यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थलों की सूची में शामिल होने के सा...
 पोस्ट लेवल : MAHARASTRA WORLD HERITAGE SITE
चित्तौड़गढ़ में घूमते हुए आप खालिश राजस्थानी स्वाद को महसूस कर सकते हैं। मुझे किले में जय चित्तौड़ सोडा शिकंजी की दुकानें दिखाई देती हैं। गर्मी के दिन हो तो शिकंजी तो पानी ही चाहिए। आगे बढ़ने पर किले के अंदर राजस्थान हस्तकला केंद्र का विशाल शो रूम नजर आता है। इसमें...
 पोस्ट लेवल : RAJSTHAN GOOD FOOD WATER
चित्तौड़ के किले के मुख्य द्वार से प्रवेश करने पर कुंभा महल, विजय स्तंभ, जौहर स्थल, समृद्धेश्वर शिव मंदिर, गौमुख कुंड आदि स्थल आसपास हैं। यहां से कोई दो किलोमीटर आगे चलने पर रानी पद्मिनी का महल आता है जो किले का मुख्य आकर्षण है। इस महल के पास कालिका माता का सुंदर म...
 पोस्ट लेवल : TEMPLE RAJSTHAN
चित्तौड़गढ़ के किले में शिव का अदभुत मंदिर है। स्थापत्य कला और मूर्ति कला के लिहाज से यह शिव मंदिर देश के सबसे सुंदर शिव मंदिरों में से एक है। किले में गौमुख कुंड के उत्तरी छोर पर समृध्देश्वर महादेव का भव्य प्राचीन मंदिर स्थित है। इसके भीतरी और बाहरी भाग पर बहुत ही...
 पोस्ट लेवल : TEMPLE RAJSTHAN