ब्लॉगसेतु

कान्हा की भक्ति में अपना पूरा जीवन मिटा देने वाली मीरा। मीरा बाई चित्तौड़ की महारानी थीं। वे मेड़ता से ब्याह कर यहां आई थीं। चित्तौड़गढ़ के किले में मीरा के प्रभु गिरिधर नागर का सुंदर मंदिर देखा जा सकता है।मीरा के श्याम का मंदिर -चित्तौड़गढ़ के किले में कुंभ श्याम...
 पोस्ट लेवल : TEMPLE RAJSTHAN
सरदी की सुबह  में भी सात बजे तक तैयार हो चुका हैं। होटल के बाहर पोहा और जलेबी नास्ते में लेने के बाद यहीं एक आटो वाले से बात करता हूं किला घूमाने के लिए। रात में होटल नटराज के मैनेजर ने सलाह दी थी। किला अंदर काफी बड़े विस्तार में फैला है इसलिए यहीं से आटो बुक...
 पोस्ट लेवल : RAJSTHAN
भीलवाड़ा के बाद हमारी अगली मंजिल है चितौड़गढ़। हरणी महादेव से लौटते हुए बस के कंडक्टर ने बता दिया था कि बस स्टैंड जाने की कोई जरूरत नहीं है। आप रेलवे फाटक पार कर चितौड़ हाईवे पर खड़े हो जाएं। वहीं बस मिल जाएगी। वाकई वहां से बस मिल गई। भीलवाड़ा से चितौड़गढ़ की दूरी...
 पोस्ट लेवल : RAJSTHAN
भीलवाड़ा शहर से छह किलोमीटर की दूरी पर हरणी महादेव (शिव) का मंदिर  स्थित है। यह राजस्थान के प्रसिद्ध शिवमंदिरों में से एक है। यह शिव का अति प्राचीन मंदिर है। मंदिर में स्वंभू शिवलिंगम के दर्शन किए जा सकते हैं। शिवलिंग किसी प्रचीन में गुफा  में स्थित...
 पोस्ट लेवल : TEMPLE RAJSTHAN