ब्लॉगसेतु

ग़ालिब साहिब की ग़ज़ल पर आधारित यह गीत सीधा दिल में उतरता है दिल-ए-नादां तुझे हुआ क्या है?आख़िर इस दर्द की दवा क्या है?मैं इसे बचपन की उस उम्र से सुनता आ रहा हूँ जब मुझे न तो उर्दू की समझ थी  की। मेरे मामा ज्ञानी राजिंदर सिंह छाबड़ा (फ़िरोज़पुर) उन दि...
 पोस्ट लेवल : Mirza Ghalib Film Music History Urdu Poetry YouTube
 रिश्तों में छुपी रूहानियत और पावन इश्क का अहसास इस कोलाज में जो डिनर की तस्वीर दिख रही है वह धन्यवाद सहित ली गई है आर जे Danish Sait की फेसबुक वाल से अतीत की दुनिया: 7 जनवरी 2020: (पंजाब स्क्रीन ब्लॉग टीवी)::आल इण्डिया रेडियो की उर्दू सर्विस कभी बेह...
 पोस्ट लेवल : Society Whats App FaceBook Women Social Media Mother Friends
मेरा जन्म 1958 का और यह फिल्म रिलीज़ हुई थी सन 1964 में तेरी आँख के आंसू पी जाऊं-ऐसी मेरी तक़दीर कहां ! यह गीत मुझे बचपन से ही पसंद था। जब भी रेडियो पर यह गीत आता मैं सब काम छोड़ कर इसे सुनता।मेरा जन्म मार्च 1958 का है और यह फिल्म आई थी सन 1964 में...
हर गरीब बच्चे तक शिक्षा पहुंचाने में जुटी है प्रीत अमृतसर: 11 मार्च 2018: (कार्तिका सिंह//पंजाब स्क्रीन डेस्क टीम)::जन्मदिन मुबारक आज बात करते हैं एक युवा महिला की। मेरा मतलब है लुधियाना की हरप्रीत कौर प्रीत से। हरप्रीत नामधारी सम्प्रदाय से सबंध...
 पोस्ट लेवल : Ludhiana Birthday Namdhari FaceBook Harpreet kaur
इस बहाने से मगर देख ली दुनिया हम नेफेसबुक: 10 फरवरी 2018: (रेक्टर कथूरिया//पंजाब स्क्रीन)::सुल्ताना बेगम साहिबा से मुलाकात किसी भी तरह हो--उनके लिखे शब्दों के ज़रिये या फिर आमने सामने या फिर तस्सवुर में--एक बात पक्की है कि कुछ देर के लिए आप वोह नहीं रहते जो मिल...
 पोस्ट लेवल : Film Music Hindi FaceBook Social Media Sultana Begum Poetry