ब्लॉगसेतु

वह अंतरंग मुलाकात--जो अब भी जारी है कभी लिखा था कि.....मिलती हैं जो ठोकरे राह ऐ ज़िन्दगी में,  कभी कभी उन्हें खा कर रुक जाना ही बेहतर है. न जाने रचियता का,किस और मुड़ने का इशारा हो..!संजीत के साथ कुछ पल कैमरे के सामने अब इन्ही पंक्तियों के क़दमों प...
 पोस्ट लेवल : Ludhiana Gujjarwal Sanjit Kaur GCG Friends
ਕੁਝ ਦਿਨ ਪਹਿਲਾ ਰਸੂਲ ਨੂੰ ਪੜ੍ਹਨਾ ਸ਼ੁਰੂ ਕੀਤਾ। ਕੁਝ ਲੋਕਾਂ ਨੇ ਵੀ ਕਿਹਾ ਸੀ ਕਿ ਉਸਨੂੰ ਪੜ੍ਹਨਾ ਚਾਹੀਦਾ ਹੈ, ਤੇ ਇੱਕ ਵਾਰੀ ਸਾਡੇ ਪੰਜਾਬੀ ਦੇ ਅਧਿਆਪਕ ਸਾਹਿਬਾਂ ਨੇ ਕਹਿ ਦਿੱਤਾ ਕਿ ਲਾਇਬ੍ਰੇਰੀ ਵਿੱਚੋ ਉਸਦੀ "ਮੇਰਾ ਦਾਗਿਸਤਾਨ " ਨਾਂ ਦੀ ਕਿਤਾਬ ਪੜ੍ਹੋ।  ਬਸ ਫੇਰ ਕਿ ਸੀ ਅਧਿਆਪਕਾਵਾਂ ਦਾ ਕਿਹਾ ਥੋੜੀ ਮੋੜੀ ਦਾ ਹੈ...ਆ...
गुरुओं ने कहा था "पवन गुरु, पानी पिता, माता धरत महत..."लेकिन प्रकृति का क्या हाल कर दिया हमने---पंजाब के पानी में भी घोली जा चुकी है प्रदुषण की ज़हरलुधियाना: 6 जून, 2018: कार्तिका सिंह  कभी तेज धुप तो कभी झमाझम बारिश। कभी कंपकंपाती सर्दी और चारो तरफ धुंध त...
 पोस्ट लेवल : Met Department Pollution Nature Spirituality
पीएयू के सुसाईड प्रिवेंशन आयोजन ने सिखाये ज़िंदगी के असली गुर लुधियाना: 16 सितंबर 2017: (कार्तिका सिंह)::मन की दुनिया अजीब दुनिया है;रंग कितने ही यह बदलती है। यह पंक्तियाँ इन दिनों की अख़बार में छपी खबरें देख कर पहले मन में उठीं और फिर&n...
 पोस्ट लेवल : PAU Ludhiana Suicide Prevention Contest Poetry
सन 2030 तक दंगे फसादों से मुक्त समाज बनाने का शुभारम्भ लुधियाना: 14 नवम्बर 2016: (कार्तिका सिंह//मन की दुनिया मन के रंग)बहुत बड़ी शक्ति छुपी है मन में। मन जो चाहे करने की क्षमता रखता है। इसे जीत लिया जाये तो दुनिया जीतने की क्षमता पैदा हो जाती है। मन किसी से मि...
 पोस्ट लेवल : Children Day Eye Donation Punarjot Events Dr. Ramesh
मन , मन से भाव है कल्पना का संसार सपनो की दुनिया।  जहाँ  हमारी कल्पना शक्ति इतनी उँची उड़ती है कि  हमारे ख्याल , हमारे भाव आसमान से भी ऊपर उड़ जाते है।  कभी यह भाव किसी अपूर्ण इच्छा की पूर्ति का होता है , तो कभी कुछ और।  कभी सूर्य के उजाले मे...
 पोस्ट लेवल : Dreams GOD World Nature Mind
बहाने पर बनाता है बहाना बना कर छोड़ेगा मुझको दीवाना गर्मी ने जान निकाल रखी थी। हर रोज़ पढने के लिए जाना किसी पहाड़ से कम न लगता। रोज़ गुस्सा आता कि पता नहीं कब होंगी स्कूल में गर्मी की छुट्टियाँ। घर बदलने के बाद उसी पुराने स्कूल से मोह भी न...
 पोस्ट लेवल : Ludhiana Waves Mind Science Colors
जिस बात को मन तैयार हो वहां मुश्किल भी मुश्किल नहीं लगतीCourtesy photoकभी कबीर जी ने कहा था माला फेरत जग भया गया न मन का फेर रे हाथ का मनका छाडि दे मन का मनका फेर रे इस बात को कितना ही समय बीत गया----कबीर जी ने कितने ही पते की बात कही थी पर...
 पोस्ट लेवल : Mind Sant Kabeer Baba Shekh Fareed
मन ही देवता, मन ही ईश्वर, मन से बड़ा न कोयमन उजियारा जब जब फैले, जग उजियारा होयतोरा मन दर्पण कहलाये मेरे अनुभव मेरे हैं---और आपके अनुभव आपके रहेंगे----इनमें कम या अधिक अंतर हो सकता है---यहाँ इन्हें पूरी ईमानदारी से प्रस्तुत किया जायेगा तांकि मन की दुनिया...