ब्लॉगसेतु

सादर अभिवादन।चर्चामंच की मेरी पहली प्रस्तुति में आपका हार्दिक स्वागत है। अब मैं हरेक शुक्रवार आपसे मुखातिब होते हुए नई नवेली रचनाओं के माध्यम से हाज़िर हुआ करूंगी। चर्चामंच पर आकर आपके समक्ष पहली प्रस्तुति के साथ बहुत रोमांचित हूं।आज नवम्बर का पहला दिन और गुनगुनी ध...
 पोस्ट लेवल : अनीता लागुरी 'अनु'
जी नमस्ते,आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल शुक्रवार (01-11-2019) को "यूं ही झुकते नहीं आसमान" (चर्चा अंक- 3506) " पर भी होगी।आप भी सादर आमंत्रित हैं….-अनीता लागुरी 'अनु'---
आज की चर्चा में आपका हार्दिक स्वागत हैरूप का इस्तेमाल मत करनासाथ निभाती नाररूठ गए हैं सब नज़ारे, क्या करें ?समझ... ज़िन्दगी कीकुलदीप कुमार की कविताएंमोदी के अभियान पर जैन महिला भारीइतनी जल्दी भी क्या हैइबादत मैं करूँ सिर्फ तेरीअलेक्सा आ गईसुबह 6 बजे की चायधन्यवाददिलब...
मित्रों!बुधवार की चर्चा में आपका स्वागत है। (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक') --आज की चर्चा में देखिए कुछ अद्यतन लिंक और नियमित प्रविष्टियाँ--सबसे पहले देखिए मेरी यह ग़ज़लग़ज़ल "तो कोई बात बने" उच्चारण --सभी विधाओं में अपनी कलम चलाने वालीपेशे से...
मित्रों!मंगलवार की चर्चा में आपका स्वागत है। (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक') --आज की चर्चा में देखिए दिवाली से जुड़े कुछ लिंक और नियमित प्रविष्टियाँसबसे पहले भइयादूज पर मेरे कुछ दोहे--दोहे  "पावन प्यार-दुलार" उच्चारण --प्रकृति के स...
स्नेहिल अभिवादन।कल कार्तिक मास की अमावस्या (कृष्णपक्ष) को दीपावली का पर्व उल्लास के साथ सम्पन्न हुआ। आज तिथि है कार्तिक मास की प्रतिपदा (शुक्लपक्ष) जिसका विशेष महत्त्व अन्नकूट और गोवर्धन पूजा के रूप में है। आज के दिन गौ माता की पूजा होती है। ब्रज में गोवर्धन प...
दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएँरौशनी का पर्व दीपावली भारत का सर्वाधिक चर्चित और उल्लासभरा त्योहार है। उत्तर भारत के सभी क्षेत्रों में इस पर्व का बड़ा सामाजिक महत्त्व है। भारत के अलावा दुनिया में जहाँ भी भारतीय संस्कृति के अनुयायी बसे हैं वहाँ भी दीपावली अपनी रौनक...
स्नेहिल अभिवादन। छोटी दिवाली / नरक चौदस की हार्दिक शुभकामनाएँ।चर्चा मंच का विशिष्ट अंक (3500 वां) प्रस्तुत करने का संयोगवश सौभाग्य मुझे मिला है। इस विशेष प्रस्तुति में आपका तह-ए-दिल से स्वागत और अभिनंदन!आप सबकी सदेच्छाओं,स्नेह, आशीर्वाद और पढ़ने की ख़ास रूच...
मित्रों!शुक्रवार की चर्चा में आपका स्वागत है। देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक।(डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')--दोहे "कुछ अभिनव उपहार" उच्चारण--शायद उसके पास दिल न था Sahitya Surbhi पर dilbag virk  --सामाजिक स्नेह की प्रथम अनुभूति नि...
आज की चर्चा में आपका हार्दिक स्वागत हैआवश्यक सामान बापू ! रहे हिमालयपाब्लो नेरूदा की सात कविताएँहो तुम मेरा सम्बलदीप शायद उसके पास दिल न थामौत से साक्षात्कार पहली बार कोमल भावनाओं की अभिव्यक्तिझड़ते बालों को रोके एक शाम स्निती के नाम धन...