ब्लॉगसेतु

Ranjana Gauhar's dance on Kabir's couplets in India habitat centerइंडिया हैबिटेट सेंटर में आयोजित दो दिवसीय शास्त्रीय नृत्य-संगीत का यह कार्यक्रम कई मायनों में बहुत ही खास था। एक से बढ़कर एक कलाकारों की प्रस्तुति ने दर्शकों का दिल जीत लिया। मंगलवार को हुए उद्घ...
 पोस्ट लेवल : Ranjana Gauhar's
15 august 1947 congress conference देश आजादी की डोर में बंध रहा था। सन 1947 में पुराने किले की एशियन कांफ्रेंस को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने संबोधित किया। भारत कोकिला सरोजिनी नायडू ने उसकी अध्यक्षता की। अंग्रेजों ने भी किसी तरह की बाधा नहीं डाली।...
आजादी की खुशबू फिजाओं में फैली थी। ये सुगंध हर किसी को दिल्ली की गलियों में खींचकर ले आ रही थी। चौक चौराहों पर देशभक्ति के तराने बज रहे थे। लाउडस्पीकर का शोर दूर से ही रोमांचित करता था। बड़े-बुजुर्गों की टोली बच्चों को कंधों पर बैठाए लाल किले की तरफ जा रही थी।...
दिल्ली में ऐसे बहुत कम कार्यक्रम होते हैं जिनमें दर्शक समाप्ति तक कुर्सियों से ना केवल चिपके रहे बल्कि तालियों का जोश भी ठंडा ना पड़े।  में ऐसे ही एक कार्यक्रम का गवाह बना। जो दिल को सुुकून देने वाला था। हजरत अमीर खुसरो अौर कबीर में भले ही दो सदियों का अंतर हो...
 पोस्ट लेवल : खुसरो-कबीर
चिट्ठी आयी है..पीले पोस्टकार्ड पर अक्षर उभरे हैं। कई पोस्टकार्ड पर लिखते समय आंसूओं की बूंद टपकने से अक्षर धुंधले हो चुुके हैं। पोस्टकार्ड, जो सैनिकों की वीरता के किस्से से भरे है। हर चिट्ठी शहादत की कहानियां समेटे हैं। अपनों को खोने का गम भी है और देश के लिए बलिद...
 पोस्ट लेवल : postcard
Lavni folk artist life मौसम रुहानी था, आसमान में बादल घुुमड़ रहे थेे। ठंडी-मद्धम हवा बह रही थी। दिलली के स्टेन ऑडिटोरियम में घुप अंधेरा था। दर्शक सीट से चिपककर बैठेे थेे। थोेड़ी देर में स्टेज नीली मद्धिम रोशनी से नहा उठती है। एवं बाद में सफेद रोेशनी स्टेज पर ए...
 पोस्ट लेवल : Lavnifolkartistlife
रामराज्य में सीता का ‘विलाप’मर्यादा पुरुषोत्तम राम ने जब सीता से अग्नि परीक्षा देने के लिए कहा होगा तो उन्होंने कैसे रिएक्ट किया होगा?उनके जेहन में कौन से सवाल उठे होंगे?जब मां सीता को बिना बताए, वन में छोड़ा गया तो उस समय उनके दिल पर क्या बीती होगी? आखिर क्यो...
 पोस्ट लेवल : delhitamilsangam bhratnaatyam sitayana