ब्लॉगसेतु

        अभी दो दिन पहले की ही तो बात है। घर में राशन, दालें आदि समाप्त हो गये थे। पूरा नगर लॉकडाउन था। आवाजाही बिल्कुल बन्द थी। मैंने स्थानीय किराना व्यापारी को फोन करके घर का सामान लिखवा दिया। लेकिन उसने कहा कि सामान तो मैं पैक करके...
बाल सुलभ जिज्ञासाओं की अभिव्यक्तियाँ“खेलें घोड़ा-घोड़ा”      सहारनपुर निवासी डॉ.आर.पी.सारस्वत 2016 में मेरे द्वारा आयोजित “राष्ट्रीय दोहाकार समागम“ में खटीमा पधारे थे। मेरी धारणा थी कि ये दोहाकार ही हैं मगर तीन-चार दिन पूर्व मुझे इनक...
उदात्त भावनाओं की शायरी        अदबी दुनिया में साधना वैद अब तक ऐसा नाम था जो काव्य के लिए ही जाना जाता था। किन्तु हाल ही में इनका कथा संग्रह “तीन अध्याय” और बाल कथा संग्र “एक फुट के मजनूँमियाँ” प्रकाशित हुआ तो लगा कि ये न केवल...
‘स्मृति उपवन’पठनीय और संग्रहणीय भी       संस्मरणों के संग्रह ‘स्मृति उपवन’ के पुस्तकाकार करने हेतु बधाई और शुभकामनाएँ स्वीकार करें। आपके संस्मरणों को पढ़ने  का अवसर प्राप्त हुआ और मैं भाग्यशाली हूँ कि आपके इस संग्रह के वि...
अट्ठावन कविताएँ“महाभारत जारी है”      कुछ दिनों पूर्व मुझे स्पीडपोस्ट से “महाभारत जारी है” नाम की एक कृति प्राप्त हुई। मन ही मन मैं यह अनुमान लगाने लगा कि यह ऐतिहासिक काव्यकृति होगी। “महाभारत जारी है” के नाम और आवरण ने मुझे प्रभावित किया और...
 प्रेमचन्द का जीवन परिचय (Premchand's Biography) जन्म-प्रेमचन्द का जन्म ३१ जुलाई सन् १८८० को बनारस शहर से चार मील दूर लमही गाँव में हुआ था। आपके पिता का नाम अजायब राय था। वह डाकखाने में मामूली नौकर के तौर पर काम करते थे।जीवन धनपतराय की उम्...
     आज ज्येष्ठ मास की पूर्णिमा है। आज के ही दिन दो महान विभूतियों का जन्म हमारे भारत वर्ष में हुआ था। जिनमें एक सन्त कबीर थे और दूसरे जनकवि बाबा नागार्जुन थे। सन्त कबीर एक समाज सुधारक थे और उनके नाम पर आज कई मठ बने हैं और उनमें मठाधीशों आध...
♥ रस काव्य की आत्मा है ♥सबसे पहले यह जानना आवश्यक है कि रस क्या होता है?कविता पढ़ने या नाटक देखने पर पाठक या दर्शक को जो आनन्द मिलता है उसे रस कहते हैं।आचार्यों ने रस को काव्य की आत्मा की संज्ञा दी है।रस के चार अंग होते हैं। 1- स्थायी भाव,2- विभाव,3- अनुभाव और...
 पोस्ट लेवल : काव्य की आत्मा?....रस
श्रीमती आशा लता सक्सेना का छठवाँ काव्य संकलन"सिमटते स्वप्न"         लगभग एक सप्ताह पूर्व श्रीमती आशा लता सक्सेना का षष्टम् काव्य संकलन मुझे प्राप्त हुआ। लेकिन आज समय मिला है अपनी भावनाओं को व्यक्त करने का।       &nb...
आज दिनांक 22-09-2-14 कोमेरे खटीमा नगर मेंश्री रामलीला पात्र परिषद् द्वारारामलीला का मंचन प्रारम्भ हो गया।जिसके मुख्य अतिथि खटीमा फाइबर्स के अध्यक्षआर.सी.रस्तोगी ने पूजन के बाद फीता काटकर उद्घाटन किया।इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप मेंमा. पुष्कर सिंह धामी, विधायक ख...