ब्लॉगसेतु

Ashish Shrivastava
0
2MASS J17554042+6551277 तारा :जेडबल्यूएसटी का प्रथम चित्र जेम्स वेब अंतरिक्ष वेधशाला(James Webb Space Telescope – JWST) ने चित्र लेना शुरू कर दिया है, इससे वैज्ञानिकों की उम्मीद से कई गुणा बेहतर चित्र आ रहे है। ये तस्वीर एक नारंगी रंग के प्रकाश उत्सर्ज...
Ashish Shrivastava
0
2021 विज्ञान और तकनीक के विकास के लिए एक उल्लेखनीय वर्ष रहा है, इस वर्ष बहु प्रतीक्षित जेम्स वेब अंतरिक्ष दूरबीन का प्रक्षेपण हुआ साथ ही मानव निर्मित यान ने सूर्य के प्रभामंडल को छूने मे मे सफलता पाई है। जैसे-जैसे तकनीक विकसित होती जाती है, नई-नई वैज्ञानिक खोज और...
Ashish Shrivastava
0
जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप(JWST) नासा की बहुप्रतीक्षित महत्वाकांक्षी अंतरिक्ष दूरबीन “जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप(JWST)” 25 दिसंबर 2021 को अंतरिक्ष में प्रक्षेपित किया जा चुका है। इस अंतरिक्ष दूरबीन से वैज्ञानिकों को काफी उम्मीदें हैं। वर्तमान में, न...
Ashish Shrivastava
0
ब्लड मून 26 मई 2021 को चंद्र ग्रहण है, इस चंद्र ग्रहण को क्यों कहा जा रहा है सुपर ब्लड मून ? 26 मई को चंद्र ग्रहण के दौरान दुनिया के कई हिस्सों में सुपर ब्लड मून दिखाई देगा। ये एक अनोखी घटना होती है जब चंद्र ग्रहण लगेगा और हमें ब्लड मून यानी लाल रंग का चांद...
Ashish Shrivastava
0
माइकल कोलिन्स: अपोलो 11 के कमांड मॉड्यूल कोलंबीया के पायलट थे । जिस समय नील आर्मस्ट्रांग और बज़ आल्ड्रीन लूनर मॉड्यूल के द्वारा चन्द्रमा पर उतर गए थे , माइकल कमांड मॉड्यूल में चन्द्रमा की परिक्रमा कर रहे थे। अपोलो 11 मिशन के क्रू सदस्य रहे अंतरिक्षयात्री माइकल क...
Ashish Shrivastava
0
अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा का अंतरिक्षयान पर्सिवियरेंस मंगल ग्रह की सतह पर 19 फरवरी 2021 को उतर चुका है। 8 मार्च 2021 पर्सिवियरेंस रोवर ने मंगल ग्रह की सतह पर चलना यानी खोज करना शुरू कर दिया है। एजेंसी के अनुसार, रोवर बहुत दूर नहीं गया है। इसने अब तक कु...
 पोस्ट लेवल : अंतरिक्ष
Ashish Shrivastava
0
लेखक : देवेंन मेवाड़ी आज के ही दिन 11 जनवरी, 1922 को इंसुलिन हार्मोन के खोजकर्त्ता सर फ्रेडरिक ग्रांट बैंटिंग और चार्ल्स बेस्ट ने दुनिया में पहली बार डायबिटीज से गंभीर रूप से पीड़ित 14-वर्षीय बालक लियोनार्ड थॉम्पसन को कनाडा के टोरंटों जनरल हास्पिटल में इंसुलिन का इंज...
शिवम् मिश्रा
0
विक्रम अंबालाल साराभाई (१२ अगस्त, १९१९ - ३० दिसंबर, १९७१) भारत के प्रमुख वैज्ञानिक थे। इन्होंने ८६ वैज्ञानिक शोध पत्र लिखे एवं ४० संस्थान खोले। इनको विज्ञान एवं अभियांत्रिकी के क्षेत्र में सन १९६६ में भारत सरकार द्वारा पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था।डॉ॰ विक...
Ashish Shrivastava
0
वैज्ञानिकों ने गुरुत्वीय माइक्रोलेंसिंग (Gravitational Micro lensing) तकनीक से यह छोटा आवारा ग्रह (Rouge Planet) खोजा है। इस आवारा ग्रह का नाम OGLE-2016-B4LG-1928 दिया गया है, इसकी खोज लास कम्पास वेधशाला चिली की वारसा दूरबीन(Warsaw Telescope at Las Campanas Obser...
Ashish Shrivastava
0
अमरीकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने घोषणा की है कि उसे चंद्रमा पर पानी होने के प्रमाण मिले हैं। नासा ने अपनी एक नई और अचंभित करने वाली खोज के बारे में घोषणा की है कि उन्हें कुछ दिनों पहले चंद्रमा की सतह पर पानी होने के निर्णायक प्रमाण मिले हैं। चंद्रमा की सतह पर पानी क...
 पोस्ट लेवल : अंतरिक्ष नयी खोज