ब्लॉगसेतु

शिवम् मिश्रा
0
पिछले कुछ वर्षों में भारतीय राजनीति में इतना बदलाव तो यकीनन ही आया है कि , अब लोगों को वो राजनीति स्पष्ट दिख रही है और शायद समझ भी आ रही है जिससे कभी आम लोगों का दूर दूर तक यदि वास्ता था तो सिर्फ इतना की वोटिंग वाले दिन एक छुट्टी मिलेगी | अब न सिर्फ मतदाताओं का मतद...
शिवम् मिश्रा
0
सरकार ने आखिरकार आरक्षण के भूत की एक बार फिर से चुटिया पकड़ ली है | हालांकि मेरे जैसे एक साधारण व्यक्ति जो सिर्फ अपने श्रम और संघर्ष पर अपना मुकाम हासिल कर पाया के लिए किसी भी तरह का आरक्षण , ठीक उस बैसाखी की तरह है जो दो पाँव से चलने दौड़ने वाले तक को जबरन थमाया जा...
शिवम् मिश्रा
0
धंधे में शामिल होने जाता एक एम्बुलेंस आज फिर वही छ: साल पुरानी वाली तल्ख़ स्थतियों से गुजरा जिनसे मैं और परिवार तब गुजरे थे जब मैं अचानक ही बहुत अधिक अस्वस्थ होकर अस्पताल में भर्ती हो गया था और तब से लेकर आज तक जाने कितनी ही बार ऐसी अनेकों परिस्थितयों हालातों घ...
kuldeep thakur
0
सुनो !आरुषी,प्रियदर्शनी ,निर्भया ,करुणा ,सुनो लड़कियोंतुम यूं न मरा करो ,हत्या कर दो ,या अंग भंग ,फुफकार उठो ,डसो ज़हर से,बन करैत,बेझिझक , बेधड़क ,प्रतिवाद , प्रतिकार ,प्रतिघात , किया करो-अजय कुमार झा
 पोस्ट लेवल : अजय कुमार झा गूगल+ से
शिवम् मिश्रा
0
आज हमारे बड़के भईया जी का बर्थड़े है ... हाँ ... हाँ ... वही हैप्पी वाला ... चलिये सब लोग फटाफट ... भईया जी को मुबारकबाद दीजिये ... हमारे साथ साथ बोलिए ...भईया जी इश्माईल प्लीज ... हैप्पी बर्थड़े अजय भाई ... :)
अर्चना चावजी
0
यहाँ आपको मिलेगी सिर्फ अपनों की तस्वीर जिन्हें आप संजोना चाहते हैं यादों में .......... ऐसी पारिवारिक तस्वीर  जो आपको  अपनों के और करीब  लाएगी हमेशा... आप भी भेज सकते हैं आपके अपने बेटे/बेटी/नाती/पोते परिवार के  किसी सदस्य के  साथ  आपक...
 पोस्ट लेवल : बुलबुल अजय कुमार झा
अजय  कुमार झा
0
आलेख को पढने के लिए उस पर चटका लगा दें । खुलने वाली छवि को आराम से चटका कर पढा जा सकता है ।
girish billore
0
..............................
girish billore
0
..............................