ब्लॉगसेतु

Sanjay  Grover
304
ऐसे मौक़े पर किसी एक पक्ष के बारे में रचना लिख दो, अकसर मशहूर हो जाती है।किसीने लिख दिया कि हम पेपर नहीं दिखाएंगे।बिलकुल ठीक है, नागरिकता वगैरह के पेपर की मांग से ग़रीबों और दूसरे कई लोगों को बहुत मुश्क़िल होगी। वैसे भी, क्या गारंटी है जो यहां का निकलेगा वो अच्छा भी न...
Saransh Sagar
229
विषय संवेदनशील है पर इस समय कोई भी व्यक्ति इससे अपरिचित नही रह गया है इसीलिए सभी मित्रों,अग्रज व अनुज के विचार आमंत्रित है !!! रेप , ब्लात्कार य दुष्कर्म जैसी घटनायें होने के क्या क्या कारण है ? वो कौन से तत्व है जो इन अपराधों को जन्म देते है !! रेप , ब्लात्का...
Saransh Sagar
229
सात्विक रोटी बनाने का तरीका Detox Roti Recipe | Satvic Movement  Share In Whatsapp  सारांश सागर द्वारा प्रकाशित किया गया अनुभव को सारांश में बताकर स्वयं प्रेरित होकर सबको प्रेरित करना चाहता हूँ !        &n...
Saransh Sagar
229
पुणे पुलिस के संदीप सूर्यवंशी का गाना हो रहा है वायरल !.facebook-responsive { overflow:hidden; padding-bottom:75.25%; position:relative; height:0; } .facebook-responsive iframe { left:0; top:0; height:100%; width:100%; position:...
Saransh Sagar
229
एक बुढ़िया बड़ी सी गठरी लिए चली जा रही थी। चलते-चलते वह थक गई थी। तभी उसने देखा कि एक घुड़सवार चला आ रहा है।उसे देख बुढ़िया ने आवाज दी, ‘अरे बेटा, एक बात तो सुन।’ घुड़सवार रुक गया। उसने पूछा, ‘क्या बात है माई...?’बुढ़िया ने कहा, ‘बेटा, मुझे उस सामने वाले गांव में ज...
Saransh Sagar
229
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); एक बूढ़ा कारपेंटर अपने काम के लिए काफी जाना जाता था , उसके बनाये लकड़ी के घर दूर -दूर तक प्रसिद्द थे . पर अब बूढा हो जाने के कारण उसने सोचा कि बाकी की ज़िन्दगी आराम से गुजारी जाए और वह अगले दिन सुबह-सुबह अ...
Saransh Sagar
229
कैलाश मंदिर दुनिया भर में एक ही पत्थर की शिला से बनी हुई सबसे बड़ी मूर्ति के लिए प्रसिद्ध है। इस मंदिर को तैयार करने में क़रीब 150 वर्ष लगे और लगभग 7000 मज़दूरों ने लगातार इस पर काम किया। पच्‍चीकारी की दृष्टि से कैलाश मन्दिर अद्भुत है। मंदिर एलोरा की गुफ़ा संख्या 1...
Saransh Sagar
229
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); #चमकौर_का_युद्ध- जहां 10 लाख मुग़ल सैनिकों से लड़कर जीते थे मात्र 40 सिक्ख दुनिया के इतिहास में ऐसा युद्ध न कभी किसी ने पढ़ा होगा न ही कभही किसी ने सोचा होगा, जिसमे 10 लाख की फ़ौज का सामना महज 40 लोगों के...
Saransh Sagar
229
अद्भुत संदेश है इस कहानी में एक बार एक व्यक्ति की उसके बचपन के टीचर से मुलाकात हो है । वह उनके चरण स्पर्श कर अपना परिचय देता है। वे बड़े प्यार से पुछती है, 'अरे वाह, आप मेरे विद्यार्थी रहे है, अभी क्या करते हो, क्या बन गए हो ?' ' मैं भी एक टीचर...
Saransh Sagar
229
जब इरादा बना ही लिया है ऊँची उड़ान भरने का ,तो देखना फ़िजूल है कद इस आसमान का Jab Irada Bana Hi Liya HaiUnchi Udaan Bharne Ka,To Dekhne Fijul Hai Kad Is Aasman Ka सारांश सागर द्वारा प्रकाशित किया गया अनुभव को सारांश में बताकर स्वयं प्रेरित...