ब्लॉगसेतु

Bharat Tiwari
23
निश्चित ही हरेक के पास पूरी आजादी है कि वह किस विचारधारा को अपनाए। लेकिन किसी को भी यह अधिकार नहीं कि अपनी विचारधारा को पोषित करने के लिए तथ्यहीन टिप्पणिया करे या फिर सोशल मीडिया में प्रतिदिन लाखों की तादात में फेंके जा रहे ‘कूड़े’ को अपना समर्थन दे — अपूर्व जो...
Bharat Tiwari
23
मेरी बात— अपूर्व जोशीमुझे आश्चर्य मैत्रेयीजी की प्रतिक्रिया पर हुआ — अपूर्व जोशी (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); अपूर्व जोशी न तो सच बोलने से डरने वालों में हैं और न सच बोलने के बाद पीछे हटने वालों में. अब इसका क्या किया जाये कि उन...
Bharat Tiwari
23
ओछी ईर्ष्या के बीच खेमेबंदी— अपूर्व जोशीपहले मुझे ज्ञात नहीं था कि साहित्य जगत में भी जबरदस्त राजनीति होती है। यहां भी घराने बने हुए हैं। लेकिन ‘पाखी’ के अनुभवों ने जैसे नए संसार से हमारा परिचय कराया जहां जातीय, क्षेत्रीय, वैचारिक संकीर्णता का जबरदस्त बोलबाला है। अ...
Bharat Tiwari
23
संकट के मूल में अति महत्वाकांक्षा— अपूर्व जोशीमैंने एक निजी बातचीत के दौरान अरविंद केजरीवाल को सलाह दी थी कि ‘आप’ को केवल दिल्ली की सरकार चलाने में अपना ध्यान केंद्रित करना चाहिए। लोकसभा के चुनाव नहीं लड़ने चाहिए। मेरा तर्क था चूंकि पार्टी का संगठनात्मक ढांचा बेहद क...