रचना - प्रति रचना:समुच्चय और आक्षेप अलंकारघनाक्षरी छंद*गुरु सक्सेना नरसिंहपुर मध्य प्रदेश*दुर्गा गणेश ब्रह्मा विष्णु महेश पांच देव मेरे भाग्य के सितारे चमकाइयेपांचों का भी जोर भाग्य चमकाने कम पड़ेरामकृष्ण जी को इस कार्य में लगाइए।रामकृष्ण जी के बाद भाग्य ना चमक सकेल...