ब्लॉगसेतु

अविनाश वाचस्पति
11
लखनऊ (25 अगस्त) :  हिन्दी भाषा की विविधता, सौन्दर्य, डिजिटल और अंतराष्ट्रीय स्वरुप को विगत 14 वर्षों से वैश्विक मंच पर प्रतिष्ठापित करती आ रही लखनऊ की संस्था परिकल्पना के 13वीं वार्षिक महासभा में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे लखनऊ परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवाएँ श्र...
अविनाश वाचस्पति
11
जी हाँ, मैं वही अविनाश हूँ जिसने बीमारी की गोद में बैठकर जिंदगी के साथ खूब आँख-मिचोनी खेला और अब लोग कहते हैं कि मैं मर गया हूँ। मैं मरा नहीं, जिंदा हूँ आपकी-उनकी-सबकी यादों में...। मैं जिंदा रहूँगा उन लोगों के बीच जिन्हें मैंने जान से ज़्यादा प्यार किया है और जिनसे...
289
      कल जैसे ही इण्डरनेट खोला तो अविनाश वाचस्पति के निधन का दुखद समाचार पढ़ने को मिला। अविनाश जी से मेरे एक आत्मीय मित्र के सम्बन्ध थे। आघात सा लगा यह हृदयविदारक सूचना पढ़कर।     अविनाश वाचस्पति दसियों साल से हैपेटाइटिस-बी रोग की...
सतीश सक्सेना
97
अविनाश वाचस्पति ब्लॉगिंग सभा संचालित करते हुए नुक्कड़ भी अचानक से , यूँ अनाथ हो गया ! ऐसा भी क्या हुआ, ये चमन ख़ाक हो गया !अविनाश के जाते ही,कुछ सुनसान सा लगे ब्लॉगिंग में मुन्नाभाई भी, इतिहास हो गया !कितने ही दिन से लड़ रहा था...
अविनाश वाचस्पति
11
ब्लॉगिंग सभा सञ्चालन में अविनाश वाचस्पति नुक्कड़ भी अचानक से , यूँ अनाथ हो गया ! ऐसा भी क्या हुआ, ये चमन ख़ाक हो गया !अविनाश के जाते ही,कुछ सुनसान सा लगे ब्लॉगिंग में मुन्नाभाई भी, इतिहास हो गया !कितने ही दिन से लड़ रहा था मौत स...
अविनाश वाचस्पति
11
गधा बनकर घोड़े की सवारी कराती कविताएं-    अविनाश वाचस्‍पति‘हँसो भी ... हँसाओ भी’ हलीम ‘आईना’ के काव्‍य विधागत विचारों का दर्पण है, एकबारगी तो लगता है कि चुटकुलों अथवा कार्टूनों की गागर है, पर यह हास्‍य-व्‍यंग्‍य के ओजपूर...
अविनाश वाचस्पति
11
अविनाश वाचस्पति
131
अविनाश वाचस्पति
11
अविनाश वाचस्पति
11
खल खलता तो बहुत है पर नकारात्‍मकता को सकारात्‍मकता से लबालब करने का प्रवाह कलाकारों में मिलता है। यह आज के तकनीकी युग में नहीं बल्कि बिना उन्‍नत तकनीक के मन को भला लग रहा है। खलनायकी की वह जंग जो दर्शक के मन में किरदार के प्रति गहरा आक्रोश भर दे, आपको गुस्‍से से भर...