ब्लॉगसेतु

Khushdeep Sehgal
61
अमृतसर दशहरा हादसे में जिन्होंने अपनों को खोया, वो भरपाई किसी जांच, किसी मुआवजे से पूरी नहीं होगी. लेकिन अपने अंदर झांक कर हम ये तो सोच ही सकते हैं कि परंपराओं के नाम पर ऐसे खतरे हम कब तक मोल लेते रहेंगे?अमृतसर में दशहरे पर जो हादसा हुआ, वो हर किसी को अंदर तक हिला...
HARSHVARDHAN SRIVASTAV
218
हमारे देश में आज कई पर्व-त्योहार एवं उत्सवों में आतिशबाजी-पटाखों का प्रमुखता से प्रयोग किया जाता है। दीपावली की तो बात ही क्या है ? बच्चों को तो पटाखे, अनार, फुलझड़ियाँ आदि विशेष रूप से प्रिय हैं और वे दीपावली में इनका जमकर प्रयोग भी करते हैं। आतिशबाजी एक फारसी शब्द...