ब्लॉगसेतु

The Views
0
ग्लेशियर टूटने के बाद इस तरह बहता दिखा मलबा. चमोली। उत्तराखंड के हिमालयी क्षेत्र में रविवार को ग्लेशियर टूटने से भारी तबाही आई। इससे पनबिजली परियोजना सहित एक अन्य बडा प्रोजेक्ट बर्बाद हो गया। अब तक 19 लोगों के मरने की पुष्टि की गई है। 202 लोग लापता हैं, जिनकी तलाश...
 पोस्ट लेवल : दुर्घटना—आपदा
0
--आज फिर बारिश डराने आ गयीचैन लोगों का चुराने आ गयी--बादलों से फलक मैला हो गयापर्वतों पर कहर ढाने आ गयी--आसमाँ में चमकती यह रौशनीजलजलों का गीत गाने आ गयी--लीलने को अब नहीं कुछ भी बचाआपदा आफत मचाने आ गयी--जिन्दगी के आशियाने ढह गयेमुफलिसों को भी सताने आ गयी--जब...
Ashish Shrivastava
0
ओल्बर्स का पैराडाक्स ब्रह्मांड मे अरबो आकाशगंगाये है, हर आकाशगंगा मे अरबो तारे है। यदि हम आकाश की ओर नजर उठाये तो इन तारों की संख्या के आधार पर आकाश के हर बिंदु पर कम से कम एक तारा होना चाहिये? तो रात्रि आसमान मे अंधेरा क्यों छाया रहता है ? अंतरिक्ष मे भी अं...
अजय  कुमार झा
0
इस शताब्दी के शुरुआत में ही विश्व सभ्यता किसी अपेक्षित प्राकृतिक आपदा का शिकार न होकर विरंतर निर्बाध अनुसंधान की सनक के दुष्परिणाम से निकले महाविनाश की चपेट में आ गया |  किसी ने कल्पना भी नहीं की थी कि कभी इंसान की करतूत उसके लिए ऐसे हालात पैदा कर देंगे ज...
kumarendra singh sengar
0
25 जून, भारतीय सन्दर्भों में, भारतीय राजनैतिक परिदृश्य में यह मात्र एक तारीख भर नहीं है. इस तारीख का अपना ही एक इतिहास है, जिसे आज काले अध्याय के रूप में देखा-जाना जाता है. 25 जून 1975 की रात्रि को तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी ने आपात...
 पोस्ट लेवल : राजनीति आपातकाल Emergency
संतोष त्रिवेदी
0
धीरे-धीरे सब कुछ खुल रहा है।लॉक-डाउन भी,वायरस भी और हम भी।पहले सरकार खुली फिर विपक्ष।वादों की तरह ‘हवाई-ट्रैक’ भी खुले।रेलगाड़ियाँ खुलीं तो उनके ड्राइवर भी खुल गए।जाना  था दूलापुर ,पहुँच गए दौलतपुर।आख़िर कोई कहाँ तक धीर धरे ! सरकार ने कई दिनों तक पिटारी खोली फ...
विजय राजबली माथुर
0
कुछ दिनों पहले हमारे देश में भी ट्विटर पर एक मुहिम शुरू हुई थी कि कोरोना संकट के कारण मोदी जी को कम से कम 10 साल के लिए प्रधानमंत्री बना दिया जाए। ..........हंगरी में क्या हुआ है यह बता रहे है वाचस्पति शर्मा'हंगरी का कोरोना संकट - और सबक'---------------------------...
0
--कोरोना से खुद बचो, और बचाओ देश।लिखकर सबको भेजिए, दुनिया में सन्देश।।--जाकर कभी समूह में, करना मत घुसपैठ।लिखना-पढ़ना कीजिए, अपने घर में बैठ।।--अनजाने इस रोग से, घबड़ा रहा समाज।कोरोना से त्रस्त है, पूरी दुनिया आज।।--घोर आपदा काल में, धीरज रखना आप।एकल होकर कीजिए,...
 पोस्ट लेवल : दोहे धीरज रखना आप
अजय  कुमार झा
0
पहला दिन : बंदी से पहले और बंदी वाले पहले दिन लोगों ने दुकानों पर                         मेला लगायादूसरा दिन : दूसरा दिन ,पुलिस ने उठक बैठक करवाते मुर्गा बनाते ,लाठी         ...
Nitu  Thakur
0
नवगीत आपका आभास नीतू ठाकुर 'विदुषी'मापनी~~ 14/14 फिर पलक झुक कर निहारेआपका आभास पाकरगूँजती है मौन वाणीफिर अधूरा गीत गाकर1अंतरे में तुम समायेगीत की रसधार फूटीतन बिना मन के मिलन सेइस जगत की रीत टूटीमोड़ते हैं मुख जहाँ सेहम दुखों पर मुस्कुराकर2फूल से चुभ...