ब्लॉगसेतु

ANITA LAGURI (ANU)
0
रात्रि का दूसरा पहरकुछ पेड़ ऊँघ रहे थेकुछ मेरी तरह शहर का शोर सुन रहे थेकि पदचापों की आती लय ताल नेकानों में मेरेपंछियों का क्रंदन उड़ेल दियातभी देखा अँधेरों मेंचमकते दाँतों के बीचराक्षसी हँसी से लबरेज़ दानवों कोजो कर रहे थे प्रहार हम परकाट रहे थे हमारे हाथों कोप...
Kajal Kumar
0
Akhilesh Karn
0
गायिका : रितू चौहान, शीला रावल, सोनी चौहानकजरी बूंदा बांदी भइले घर अंगना, हो हमार अंगनाआरे आरे सजना प्यारे प्यारे सजनाआरे आरे सजना प्यारे प्यारे सजनापानी पानी भइली हमार अंगना, हो हमार अंगनाआरे आरे सजना प्यारे प्यारे सजनाआरे आरे सजना प्यारे प्यारे सजनाझूला पड़ी गांव...
kavita verma
0
उसकी सारी कोशिशे सारी जिद अनसुनी कर दी गईं। लाख सिर पटकने पर भी उसकी माँ ने उसे तैरना सीखने की अनुमति नहीं दी। मछुआरे का बेटा तैरना ना जाने , बस्ती के लोग हँसते थे पर वो डरी हुई थीं। ये समुन्द्र उनके जीवनसाथी को निगल चुका था अब वो अपने बेटे को उसके पास भेजने से भी...
सुशील बाकलीवाल
0
          प्रसूता दर्द से कराह रही है और दाई सहित दो-चार बडी-बूढी औरतें जचगी करवाने में जुटी हैं, कमरे के बाहर स्त्री का पति अपने परिचितों के साथ परेशानहाल बैठा है और परिचित दिलासा दे रहे हैं कि सब ठीक होगा । नवजात शिशु...
महेन्द्र श्रीवास्तव
0
आज सबकी जुबान पर एक ही सवाल है, आखिर इटली में किसके मामा रहते हैं जो उसने इतनी जुर्रत की। इटली के राजदूत  ने सुप्रीम कोर्ट मे हलफनामा दायर किया था कि उनके देश में चुनाव चल  रहा है और वहां के दो नागरिकों पर भारत में हत्या का मुकदमा चल रहा है ।  उन्हें...