ब्लॉगसेतु

sanjiv verma salil
7
आलेख :शब्दों की सामर्थ्य - आचार्य संजीव वर्मा 'सलिल'*                      पिछले कुछ दशकों से यथार्थवाद के नाम पर साहित्य में अपशब्दों के खुल्लम खुल्ला प्रयोग का चलन बढ़ा है. इसके पीछे दिये जाने वाले तर्क...
4
मित्रों!      कुछ प्रश्न मेरे मन में आज भी अनवरतरूप से चलते रहते हैं, और वो हैं कि मैं ब्लॉगिंग क्यों करता हूँ? न तो इसमें कोई पारिश्रमिक है और न ही कोई पारितोषिक है, फिर मैं प्रतिदिन अनवरतरूप से अपने 4-5 घण्टे क्यों नष्ट करता हूँ? तो...
kumarendra singh sengar
537
शिवलिंग को गुप्तांग की संज्ञा क्यों?अब सनातन संस्कृति के लोग खुद ही शिवलिंग को शिव भगवान का गुप्तांग समझने लगे हैं और दूसरे हिन्दुओं को भी ये गलत जानकारी देने लगे हैं। ऐसी भ्रामक स्थिति में सही तथ्यों को जानना बहुत जरूरी है।कुछ लोग शिवलिंग की पूजा की आलोचना करते है...
kumarendra singh sengar
21
वैश्विक स्तर पर जबसे कोरोना वायरस का हमला दिखाई दिया है तबसे सभी देश लगातार उसके खिलाफ लड़ाई सी छेड़े हुए हैं. संभवतः वैश्विक इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ होगा जबकि एक विश्वयुद्ध सा मंजर दिख रहा है, बस शत्रु ही सामने नजर नहीं आ रहा है. सभी देशों को भली-भांति ज्ञात है...
4
विश्व फोटोग्राफी दिवस की शुभकामनाएँ!--चित्रकारिता दिवस में, निहित बड़ा सन्देश।लोगों को हर चित्र ही, बाँट रहा उपदेश।।चित्रकारिता दिवस का, आया आज सुयोग। लिए कैमरा हाथ में, निकल पड़े हैं लोग।। -- मित्र और परिजन-स्वजन, चले घूमने साथ। चित्र खिंचाने के लिए...
राकेश  श्रीवास्तव
218
अफ्रीकी और एशियाई हाथियों के बीच शारीरिक अंतर। 1. कान का आकार 2. माथे का आकार 3. TUSKS केवल कुछ एशियाई लोगों के पास ही 4. ट्रंक के छल्लों की संख्या  5. Toenail की संख्या  6. पूंछ का आकार 7. पीठ का आर्च / डिप (चित्र विकिपीडिया से सभार)प्रकृति और जीवन ...
rahul dev
171
यह मुस्लिम समाज में तलाक लेने का जरिया है जिसमें पति अगर अपनी पत्नी एक ही बार में तीन बार ‘तलाक़’ शब्द का उच्चारण करता है तो वह शादी रद्द हो जाती है । तलाक देने का यह तरीका मुस्लिम लॉ बोर्ड के अनुसार कानूनी है । इस कानून के तहत केवल पुरुषों को तलाक़ देने का अधिकार है...
 पोस्ट लेवल : आलेख
देवेन्द्र पाण्डेय
114
लाइट चली गई है। मैं अँधरे में हूँ। ऐसा लगता है जैसे मैं ही अँधेरे में हूँ और सबके पास रोशनी है! पूरा शहर रोशनी से जगमगा रहा होगा! केवल मैं ही अँधेरे में हूँ! फिर सोचता हूँ... जब मैंअँधरे में हूँ तो पूरा शहर भला कैसे उजाले में होगा? जब मैं अँधेरे में हूँ तो शहर भी अ...
 पोस्ट लेवल : कोरोना आलेख
4
--वृक्षारोपण को करो, पर्व हरेला आज।हरितक्रान्ति से कीजिए, उन्नत देश समाज।।--तीज-हरेला दे रहे, हमको ये सन्देश।हरियाली का देश में, बना रहे परिवेश।।--शुद्ध हवा मिलने लगे, ऐसे करो उपाय।कोरोना के काल में, देना पेड़ लगाय।।--उमड़-घुमड़ घन आ रहे, बरस रहा...
भावना  तिवारी
13
डिप्रेशन क्यों होता है?(गरिमा पन्त)       डिप्रेशन क्यों होता है? यह बहुत ही विचारणीय प्रश्न है। जब कोई दुखों में डूब जाता है, सारी दुनिया उसे काली लगने लगती है, तब व्यक्ति को कुछ भी अच्छा नहीं लगता है। अवसाद का अर्थ मनोभावों स...