ब्लॉगसेतु

Saransh Sagar
175
कोरोना काल में काफी परिवार और लोग ऐसे है जिन्हें इस समय आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ा है ! और ऐसे में उन्हें वर्तमान व्यवस्था और सरकार पर अविश्वास तो हो ही रहा है लेकिन साथ ही इंटरनेट व् सोशल मीडिया के उपयोग की जिज्ञासा भी उनमे बढ़ी है ! आइये जानते है कैसे और क्यों...
सुमन कपूर
318
                                           &nbsp...
सुमन कपूर
318
Re post Todayमैंने दीया जला कर कर दी है रोशनी ...तुम प्रदीप्त बन हर लो, मेरा सारा अविश्वास |मेरे आराध्य !आस के दीये में बची रहे नमी सुबह तलक !!सु-मनपढ़े ~ Day 11
विवेक अग्रवाल
117
एक डॉन - 45 नाम - गनतंत्र की बात 001जानिए किस अंडरवर्&#...
अनंत विजय
52
जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोरोना संकट से निबटने के लिए देशव्यापी लॉकडाउन की घोषणा की तो उसके दो दिन बाद ही लोग अपने अपने घर या यों कहें कि अपने अपने गांव जाने के लिए निकल पड़े। हर कोई संकट के इस समय अपने अपने स्थान पर लौट जाना चाहता था। बड़ी संख्या में लोगों...
सुमन कपूर
318
आज बहुत दिन ऑफिस जाना हुआ आज मिली फिर तुमसेबैठी कुछ देर तुम संगकी दो चार बातें खूब चहक रही तुम लाल पीले फूलों संग बोटल-ब्रस भीझूम रहा था लाली से गुलाब और चमेलीमहक रहे थे शान सेनहीं था भय तुम्हें किसी संक्रमण काप्रकृति को खुद में समायेल...
सुमन कपूर
318
त्रिवेणी ठहर गई भागदौड़ भरी जिंदगी एक पल मेंजंग बिना ही बंद हो गए सब दफ़्तर के तालेशामें खुद मयखाने सी नशीली हो गयी है आजकल !!सु-मन पढ़ें ~ day 9
सुमन कपूर
318
राम नवमी की शुभकामनाएँ सुन लो अरज अब मेरे राम  तुम ही खैवया जपूँ तेरा नाम जगत पर आया है संकट भारीहर लो सब पीड़ा कर दो कल्याण !!सु-मन #Stayhome_Staysafeपढ़ें ~ Day 8
सुमन कपूर
318
करोना वारइबादत के नामवाह रे बंदे |सु-मन #Stayhome_Staysafeपढ़ें ~ Day 7
सुमन कपूर
318
बेज़िस्म नज़्म सब ख़ामोश है आज 'मन' भी लफ्ज़ भी फड़फड़ा रहा तन्हा डायरी का पन्ना खाली सुबह की एक याद ज़ेहन को कुतर रही आहिस्ता - आहिस्ता कर ही देगी शायद खाली मेरा ये भरा सा 'मन' पलकों के कोरों में अभी कुछ अटक के निकल गया धुँधला कर गया शायद याद का कड़वा हिस्सा जेहन क...