ब्लॉगसेतु

अविनाश वाचस्पति
16
अमर उजाला के संपादकीय विभाग में दीपावली के ठीक पहले कुछ ऐसे बदलाव हुए हैं, जिसके दूरगामी प्रभाव देखने को मिल सकते हैं। अमर उजाला के कॉरपोरेट ऑफिस नोएडा से अरूण आदित्य को इलाहाबाद का संपादक बना कर भेजा जा रहा है। इलाहाबाद के संपादक पंकज मुकाती को बरेली।अमर उजाला के...
अविनाश वाचस्पति
16
अमर उजाला में दिनांक 23 मार्च 2012 को पेज 9 पर प्रकाशित इस खबर को जन जन के हित में अवश्‍य अपने ब्‍लॉगों/वेबसाइटों व अन्‍य सोशल माध्‍यमों पर शेयर कीजिए। 
ललित शर्मा
64
..............................
pradeep beedawat
534
खुश थे जब डाले झूठ-झूठ के ही हार गले मेंआइना सच का दिखाया तो तकरार में आ गएबिकने से बचाते रहे उनको अक्सर नीलामी मेंकीमत लगाने हमारी वे खुद बाजार में आ गएभूख अब हमारे घर के दरवाजे पर ही सोती हैआजादी के बाद आरक्षण के बुखार में आ गएघुटनों के बल चला करते थे रोते-लडख़ड़...
सुनीता शानू
497
सर्दी में कैसे नहाएंसुनीता शानूसर्दी के मौसम में रजाई से निकलकर नहाने के लिए जाना भी एक विकट समस्या है। इस मौसम में शर्मा जी खुद को सबसे बदनसीब प्राणी समझते हैं। हर सुबह उस व1त उनका मूड उखड़ जाता है, जब पत्नी न नहाने पर बार-बार उलाहना देती है। आखिरकार बीवी कमांडर ब...
सुनीता शानू
497
प्रेम में लाठी ( अमर उजाला के सम्पादकीय पृष्ठ पर प्रकाशित)मियां-बीवी राजी, तो क्या करेगा काजी? लेकिन वस्तुत: ऐसा है नहीं। दो प्रेम करने वालों के बीच से दुनिया की दीवार हटने का नाम ही नहीं लेती। यह प्यार भी, समझ में नहीं आता कि ऊटपटांग परिस्थितियों में ही क्यों होता...
सुनीता शानू
497
मिस कॉल की भाषा  सबसे पहले हम पाठको को बता दें कि मिसकाली जी क्या हैं। ये वो शख्सियत हैं जिससे बड़े-बड़े भी अपनी पहचान छुपाते हैं। अब अपने शर्मा जी से ही ले लो। पिछले दो हफ़्ते से बेचारे सो नही पाये हैं। इस मिसकाली ने नाक में दम कर रखा है। कब,कहाँ,कैसे आ टपके कुछ...
सुनीता शानू
497
मिस इंडिया की पहल से उपजे प्रश्न( अमर उजाला के काम्पेक्ट में प्रकाशित)मिस इंडिया पूजा चोपड़ा सेव द गर्ल चाइल्ड के लिए 10 लाख रूपए जुटाने के एक अभियान पर हैं। पूजा खुद एक ऐसे परिवेश से आती है, जहां उनके पिता ने उनकी मां को छोड़ दिया। पूजा की मां की हिम्मत और खुद के...
सुनीता शानू
497
अमर उजाला पर प्रकाशित एक व्यंग्य....इधर जब से शर्मा जी को हल्की सी खाँसी आई हैं, ऑफ़िस में रूबी भी हाथ मिलाने से हिचकिचाती है।शर्मा जी बहुत परेशान हैं। बाहर स्वाइन फ़्लू का बढ़ता हुआ आतंक और घर में बीबी का। बार-बार हाथ धोते-धोते परेशान हो गये थे। गले लगाना तो दूर लोग...