ब्लॉगसेतु

विजय राजबली माथुर
0
स्पष्ट रूप से पढ़ने के लिए इमेज पर डबल क्लिक करें (आप उसके बाद भी एक बार और क्लिक द्वारा ज़ूम करके पढ़ सकते हैं )  पद्मनाभन  साहब की नज़र से तीन वर्षों में दो बार ऐसा होना उत्तर प्रदेश के मतदाताओं में संरचनात्मक बदलाव है। क्योंकि देश की जनसंख्या में नौजवान...
Kajal Kumar
0
Kajal Kumar
0
रणधीर सुमन
0
  धर्मनिरपेक्षता तथा सहिष्णुता से लिए दुनिया में अपनी अलग पहचान रखने वाला हमारा देश भारतवर्ष इन दिनों अल्पसंख्यक  समुदाय विशेष·कर ईसाई समुदाय से  चर्च,मिशनरी स्कूलों तथा नन आदि पर होने वाले लक्षितआक्रमण को लेकर एक  बार फिर चर्चा में है। हालांकि...
राजीव कुमार झा
0
इधर हाल में मल्लिका मैम की फिल्म फिर से देखने को मिली.पिछले कई सालों से बॉलीवुड से गायब थीं.हॉलीवुड में काम के नाम पर अमेरिका में इधर-उधर घूमने के बाद दुबारा जब से फिल्मों में सक्रिय हुई तो  फिर से वही पुराना रोल. उस तरह के रोल करने वालों की अब एक नई पौध तैयार...
sanjiv verma salil
0
नवगीत:यह कैसा मेहमान?संजीव .यह कैसा मेहमान हमारा?यह कैसा विश्वास??.अपना वाहन साथ लाये हैं  सैनिक बल भी साथ आये हैंहम पर अविश्वास, अक्षम हम याखो बैठे आस??.करें प्रशंसा का अभिनय मिलभार देश पर अरबों का बिलनहीं सादगी तनिक कहीं भीगाँधी का उपहास.फ़िक्र गरीबों की भारी...
संतोष त्रिवेदी
0
अंकल सैम आए और हमें लहालोट करके चले गए। बताया जा रहा है कि इस दौरे में कई रिकॉर्ड टूटे हैं। टूटे तो विपक्षी दलों के दिल भी हैं,पर वे किसी तरह किरिच-किरिच हो चुके टुकड़ों को संभालने में जुट गए हैं। पड़ोसी देशों ने तो बकायदा अपने-अपने दिल टूटने के साक्ष्य प्रस्तुत किये...
Kajal Kumar
0
sanjiv verma salil
0
नवगीत:भारत आ रैसंजीव.भारत आ रै ओबामा प्यारे,माथे तिलक लगा रे!संग मिशेल साँवरी आ रईं,उन खों  हार पिन्हा रे!!.अपने मोदी जी नर इन्दरबाँकी झलक दिखा रएनाम देस को ऊँचो करनेकैसे हमें सिखा रए'झंडा ऊँचा रहे हमारा'संगे गान सुना रे! .देश साफ़ हो, हरा-भरा होपनपे भाई-चारा'व...
विजय राजबली माथुर
0
लखनऊ, 24 जनवरी 2015 : आज  निर्धारित समय से भाकपा कार्यालय -22, क़ैसर बाग  से एक जुलूस के रूप में पार्टी सदस्यों ने चल कर परिवर्तन चौक पर अन्य वामपंथी दलों के साथ संयुक्त होकर  विरोध प्रदर्शन में भाग लिया। मार्ग में गगनभेदी नारे लगाता हुआ प्रदर्शन गंतव...