जनाब कह रहे हैं  ख़ाकी और काला-कोट पगला गये हैं  और तो और सड़क पर आ गये हैं   धाक जमा रहे थे हम इन पर सफ़ेद पोशाक  पहन पितृ देव का रुतबा दिखा भविष्यवाणी कर रहे थे शब्दों का प्रभाव क्या होता है ख़ाकी और का...