ब्लॉगसेतु

रविशंकर श्रीवास्तव
4
..............................
 पोस्ट लेवल : कविता
सुबोध  श्रीवास्तव
241
चित्र गूगल सर्च इंजन से साभारमेरी कविता के बारे मेंमेरे पास सवारी करने के लिएचाँदी की काठी वाला अश्व न थारहने के लिए कोई पैतृक निवास न थान धन दौलत थी और न ही अचल सम्पत्तिएक प्याला शहद ही था जो मेरा अपना थाएक प्याला शहदजो आग की तरह सुर्ख़ था !मेरा शहद ही मेरे लिए सब...
 पोस्ट लेवल : कविता
Roli Dixit
163
PC: Pexelदिन पर दिन वृहद होती मेरी इच्छाएंएक दिन मेरी कविताओं का कौमार्य भंग कर देंगी,उभरते हुए शब्दों के निशीथ महासागर मेंगहराई का एक मुहावरा भर बनकर रह जाएंगीसिर टिकाए हुए भाषा और देह के व्याकरण मेंविलुप्त हो रही स्मृतियों में तलाशी जाएंगीबावजूद भी इसके क्या संभव...
 पोस्ट लेवल : कविता
रविशंकर श्रीवास्तव
4
..............................
 पोस्ट लेवल : कविता
रविशंकर श्रीवास्तव
4
..............................
 पोस्ट लेवल : कविता
रविशंकर श्रीवास्तव
4
..............................
 पोस्ट लेवल : कविता
Ashok Kumar
155
पिछली सदी के आरम्भ में अमेरिका में के समृद्ध व्यापारिक घर जन्मीं ऐनी सैक्सटन, एक असाधारण कवयित्री हैं। उनकी कविताओं को  confessional verse, स्टाइल की कविता कहा गया जिसमें उनके निजी और सामजिक  जीवन की त्रासदी साफ़ तौर पर दिखाई देती है. हालाँकि उनकी कविताएँ...
रवीन्द्र  सिंह  यादव
121
मिटकर मेहंदी को रचते सबने देखा है,उजड़कर मोहब्बत कोरंग लाते देखा है?चमन में बहारों काबस वक़्त थोड़ा है,ख़िज़ाँ ने फिर अपनारुख़ क्यों मोड़ा है?ज़माने के सितम सेन छूटता दामन है,जुदाई से बड़ाभला कोई इम्तिहान है?मज़बूरी के दायरों मेंहसरतें दिन-रात पलीं,मचलती उम्मीदेंकब क़दम...
Meena Bhardwaj
11
सांझ की चौखट परआ बैठी दोपहरीकब दिन गुजराकुछ भान  नही...नीड़ों में लौट पखेरुडैनों में भरउर्जित जीवनउपक्रम करते सोने कावे कब सोये फिर कब जागेपौ फटने तकअनुमान नही...गुजरा हर दिनएक युग जैसाकितने युग गुजरेबस यूंहींअवचेतन मन कोज्ञान नही...★★★★★
 पोस्ट लेवल : कविताएँ
ऋता शेखर 'मधु'
120
कैसा मिला है साथशीतल उष्ण मिल गएजैसे तुम और हमचक्र घूम कर बता रहाकभी खुशी या गमजो पिघला वह ठोस हुआजीवन अनबुझ राजपतझर की लीला बड़ीबजा बसन्त का साजसूर्य बिना वह कुछ नहींचँदा का मन जान रहाकहाँ तपन घट जाएगीसूरज को भी भान रहाएक दूजे बिन हैं अधूरेपर मिलन की राह नहींअवनी अ...
 पोस्ट लेवल : कविता सभी रचनाएँ